मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

हल्द्वानी, जेएनएन : डीएम सविन बंसल ने नौ अगस्त को बेस अस्पताल के निरीक्षण के दौरान मिली खामियों पर कार्रवाई की है। उन्होंने इस मामले में प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. हरीश लाल को चेतावनी देते हुए कहा है कि अस्पताल व जेनेरिक स्टोर में दवाइयां उपलब्ध होने पर भी बाहर की दवाइयां लिखी गई तो कार्रवाई की जाए। इससे पहले बाहर की दवा लिखने पर जहां डॉ. सीएस भट्ट को प्रतिकूल प्रविष्टि दी है। वहीं, एक डॉ. सुरेंद्र सिंह को चेतावनी दी गई थी। लिखित में जवाब भी मांगा गया था।

12 घंटे चलाएं पैथोलॉजी, वार्ड में रखें शिकायत पंजिका

कैंप कार्यालय में बीते शनिवार की रात को आयोजित बैठक में डीएम ने बेस व महिला चिकित्सालय के अधीक्षकों से कहा कि एक सितंबर से रिसेप्शन और वार्ड में शिकायत पंजिका रखी जाए। शिकायत करने के लिए दीवारों पर फोन नंबर चस्पा किया जाए। औषधि भंडार में उपलब्ध दवाइयों को प्रतिदिन ई-पोर्टल में अपलोड किया जाए। एक सितंबर से कंप्यूटर ऑपरेटर व तकनीशियन को तैनात करते हुए 12 घंटे पैथोलॉजी लैब चलाएं। 

उपकरण खरीदने के लिए 11 लाख की दी स्वीकृति

डीएम ने बैठक में महिला चिकित्सालय के लिए एक लाख 19 हजार रुपये स्वीकृत किए। इससे 18 प्रकार के चिकित्सा उपकरण खरीदे जाएंगे। बेस चिकित्सालय में नलकूप मरम्मत,  एक्सरे मशीन, आर्थो ओटी टेबल, तीन एसी, ब्लड डोनर काउचेज, छोटी दांतों की मशीन, 25 बैंच आदि जैम पोर्टल से खरीदने की अनुमति दी। इसके लिए 6.34 लाख रुपये की स्वीकृति भी दी गई। इसके अलावा भोजन व्यय के लिए 1.21 लाख, सीटी स्कैन मशीन की बैटरी खरीदने के लिए 2.83 लाख, तत्काल जीवन रक्षक दवाएं खरीदने के लिए 50 हजार, सर्जिकल सामग्री के लिए 25 हजार की स्वीकृति दी गई है। 

बेस को मिलेगी नई एंबुलेंस

डीएम ने कहा कि बेस चिकित्सालय को शीघ्र एक नई एंबुलेंस दी जाएगी। इसके लिए उन्होंने अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रश्मि पंत को पत्र लिखने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि दोनों अस्पताल आपस में कोऑर्डिनेशन बनाने रखें, जिससे कि मरीजों को किसी तरह की असुविधा न हो।

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप