नैनीताल, [जेएनएन]: जिला जज एवं विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण कुमकुम रानी की कोर्ट ने रिश्वतखोरी के मामले में ऊधमसिंह नगर जिले के रजिस्ट्रार कानूनगो हेमराज चौहान को दोषी करार दिया है। कोर्ट के फैसले के बाद उसे जेल भेज दिया गया। सजा का ऐलान 16 फरवरी को होगा।

दरअसल 2013 में राजस्व अधिकारी हेमराज को गदरपुर में तैनाती के दौरान विजिलेंस द्वारा काम के एवज में दो हजार रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया था। विजिलेंस की ओर से जांच बाद भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत आरोप पत्र अदालत में दाखिल किया। 

अभियोजन की ओर से संयुक्त निदेशक विधि डीएस जंगपांगी द्वारा नौ जबकि बचाव पक्ष द्वारा तीन गवाह पेश किए गए। सोमवार को विशेष न्यायाधीश कुमकुम रानी की कोर्ट ने अभिलेखों के अध्ययन, गवाहों के बयान के आधार पर रजिस्ट्रार कानूनगो को रिश्वतखोरी का दोषी करार दिया है। जबकि सजा के लिए 16 फरवरी की तिथि नियत की है।

एनएच घोटाले में हुई निलंबन की कार्रवाई

एंटी करप्शन कोर्ट से रिश्वत लेने के मामले में दोषी करार रजिस्ट्रार कानूनगो हेमराज चौहान को एनएच घोटाले के मामले में निलंबित किया गया था। हेमराज रिश्वत के मामले में नैनीताल जेल में बंद था। माना जा रहा है कि एसआइटी जल्द पूछताछ के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाएगी।

यह भी पढ़ें: जेई ने बिल पास करने के लिए मांगी रिश्‍वत, विजिलेंस ने रंगेहाथ पकड़ा

यह भी पढ़ें: एनएच घोटाले में निलंबित पीसीएस समेत तीन अफसर गिरफ्तार

By Bhanu