जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : हृदय को स्वस्थ रखने के लिए स्वस्थ जीवनशैली की आवश्यकता होती है, लेकिन वर्तमान में लोग तनाव में जी रहे हैं। आपाधापी की जिंदगी जी रहे हैं। इसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ रहा है। यह कहना है वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रकाश पंत का।

मंगलवार को डॉ. पंत ने जगदंबा हार्ट क्लीनिक में आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि लोगों की धारणा है कि ब्लड प्रेशर वृद्धावस्था में बढ़ता है। युवावस्था में बढ़ भी गया तो इससे क्या खतरा होगा, लेकिन हकीकत में ऐसा नहीं है। लगातार बीपी बढ़ना यानी कि हाइपरटेंशन। इससे ब्रेन स्ट्रोक से लेकर हार्ट अटैक का खतरा रहता है। इसलिए समय पर सचेत रहने की आवश्यकता है। अगर खानपान की आदतें व जीवनशैली में सुधार करना होगा। साइलेंट किलर नाम की इस बीमारी से बचने के लिए उचित उपाय करने होंगे।

योग करने से दूर होगी समस्या - डॉ. मेहता

विश्व हाइपरटेंशन-डे पर वरिष्ठ आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉ. एनके मेहता ने रमन मार्केट में लोगों को ब्लड प्रेशर से होने वाले गंभीर खतरों से अलर्ट किया। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को अपने ब्लड प्रेशर के बारे में जानकारी होनी चाहिए। अगर बीपी लगातार बढ़ रहा है, तो इससे तमाम तरह की अन्य व्याधियां हो सकती हैं। इसलिए उचित उपचार कराना चाहिए। कहा कि योग व व्यायाम करने से बीपी पर नियंत्रण किया जा सकता है।