जागरण संवाददाता, रुड़की: दिल्ली की तीस हजारी अदालत परिसर में हुए घटनाक्रम को लेकर रुड़की में भी अधिवक्ताओं ने विरोध जताया। बांहों में काली पट्टी बांधकर कार्यबहिष्कार करते हुए अधिवक्ताओं ने दिल्ली पुलिस का पुतला फूंका। एसडीएम के जरिए राष्ट्रपति को भेजे ज्ञापन में उन्होंने न्याय की गुहार लगाई।

रुड़की एडवोकेट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रवीण तोमर के नेतृत्व में अधिवक्ताओं ने सोमवार को सुबह से काली पट्टी बांधकर विरोध जताया। इसके बाद सभी अधिवक्ताओं ने कार्यबहिष्कार किया। उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस लगातार मनमानी कर रही कर अधिवक्ताओं को परेशान किया जा रहा है। अधिवक्ताओं के उत्पीड़न के बाद भी इस ओर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इसके बाद अधिवक्ताओं ने नारेबाजी करते हुए दिल्ली पुलिस का पुतला दहन किया। साथ ही मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर एसडीएम के जरिए राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा। इस मौके पवर पंकज कुमार, नवीन शर्मा, अमरजीत सिंह मौर्य, नीरज चौहान, कपिल देव, विनीत कुमार, लिल्लू सिंह, राहुल कुमार, राव मुनफैत अली, अमरपाल सिंह, जावेद अख्तर, नरेश त्यागी, आजाद अली, धीरेंद्र पाल सिंह आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस