हरिद्वार, [जेएनएन]: शहर कोतवाली पुलिस ने बैराज क्षेत्र से मिले शव की गुत्थी सुलझा ली है। पुलिस ने महिला की शिनाख्त हरियाणा निवासी नीलम के रूप में की है। साथ ही, उसकी हत्या करने वाले आरोपित नशेड़ी को भी गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित ने मामूली कहासुनी के बाद उसकी हत्या की थी। पुलिस ने आरोपित को जेल भेज दिया है।

हरिद्वार कोतवाली क्षेत्र में तीन दिन पहले बैराज के पास एक महिला का शव मिला था। उसके चेहरे पर चोट का निशान बना हुआ था। प्रथम दृष्टया हत्या की आशंका जताई जा रही थी। शिनाख्त न होने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया था। डॉक्टरों के मुताबिक सिर पर जोरदार प्रहार करने के बाद हेमरेज के कारण महिला की मौत हुई है। तब पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया। शहर कोतवाल चंद्रभान ङ्क्षसह ने मामले की जांच सप्तऋषि चौकी प्रभारी रणवीर सिंह चौहान को सौंपी।

पुलिस ने झुग्गी बस्तियों में महिला की शिनाख्त का प्रयास किया। लालजीवाला के पास लोगों ने उसकी शिनाख्त नीलम के रूप में की। झुग्गीवासियों ने बताया कि नीलम खुद को हरियाणा का निवासी बताती थी और भीख मांगकर गुजारा करती थी। पुलिस को यह पता नहीं चल पाया कि नीलम हरियाणा किस क्षेत्र की रहने वाली थी। बहरहाल पुलिस ने पड़ताल के दौरान बैराज के पास चाय की दुकान चलाने वाले अशोक उर्फ नागा पुत्र हरिचंद निवासी राजलू गड्डी, थाना गन्नोर सोनीपत हरियाणा को हिरासत में लिया। सख्ती से पूछताछ में अशोक ने नीलम की हत्या कुबूल करते हुए बताया कि घटना वाली सुबह मामूली बात पर उसकी नीलम से कहासुनी हो गई थी। 

शराब व भांग के नशे में उसने पीट-पीटकर नीलम की हत्या कर दी। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर खून से सनी टीशर्ट भी बरामद कर ली। पुलिस टीम में उपनिरीक्षक रणवीर ङ्क्षसह चौहान, कांस्टेबल योगेंद्र, अजीत तोमर व चंद्रशेखर शामिल रहे। कोतवाली प्रभारी चंद्रभान सिंह ने बताया कि आरोपित शराब व भांग के नशे का आदि है। नशे में ही उसने नीलम को मौत के घाट उतार दिया।

यह भी पढ़ें: चंपावत में एक ही परिवार के तीन लोगों की निर्मम हत्या, दो गिरफ्तार

यह भी पढ़ें: ससुरालियों ने विवाहिता की हत्या कर शव को जलाया, जंगल से राख और हड्डियां बरामद

यह भी पढ़ें: हल्‍द्वानी में डकैतों ने ट्रांसपोर्टर की पत्‍नी को मौत के घाट उतारा, बेटी को गोली मारी

Posted By: Raksha Panthari