जागरण संवाददाता, हरिद्वार: उत्तराखंड बोर्ड के दसवीं और 12वीं के विद्या भारती के स्कूलों के मेरिट लिस्ट में शामिल 182 छात्र-छात्राओं को सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज भेल रानीपुर में सम्मानित किया गया।

अखिल भारतीय विद्या भारती शिक्षण संस्थान उत्तराखंड की ओर से आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह का शुभारंभ रानीपुर विधायक आदेश चौहान, विद्या भारती के राष्ट्रीय मंत्री हेमचंद्र, मुख्य शिक्षाधिकारी डॉ. आरडी शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष हीरामणि बलोदी, विद्या भारती के प्रांत संगठन मंत्री भुवन चंद ने मां सरस्वती और मां भारती की प्रतिमा पर माल्यार्पण और दीप जलाकर किया। विधायक आदेश चौहान ने कहा कि सफलता के लिए निरंतर लगन और समर्पण से प्रयास करना चाहिए। विशिष्ट अतिथि विद्या भारती के राष्ट्रीय मंत्री हेमचंद्र ने कहा प्रदेश में विद्या भारती के 652 विद्यालय संचालित हैं। इसमें शिक्षा के साथ संस्कार भी दिया जाता है। मुख्य शिक्षाधिकारी डॉ. आरडी शर्मा ने कहा कि प्रदेश में मेधावियों की संख्या बढ़ने में विद्या भारती के स्कूलों का अहम योगदान रहा है। विद्या भारती के प्रदेश मंत्री डॉ. रजनीकांत शुक्ला ने बताया कि उत्तराखंड बोर्ड में मेरिट में आए 227 स्थानों में से 133 विद्या भारती के स्कूलों के छात्र-छात्राओं को मिला। जबकि टॉप टेन में रहे 33 में से 24 स्थान में विद्या भारती के छात्र शामिल रहे। संचालन संभाग निरीक्षक नत्थीलाल व नीलम शुक्ला ने किया। इस दौरान उत्तराखंड संस्कृत अकादमी के उपाध्यक्ष प्रोफेसर प्रेमचंद्र शास्त्री, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ. जयपाल ¨सह चौहान, प्रांत निरीक्षक डॉ. विजय पाल ¨सह, प्रदेश उपाध्यक्ष हरीश सक्सेना, किशन वीर, ज्ञान ¨सह नेगी, खंड शिक्षाधिकारी अजय चौधरी, आयोजक विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेश कुमार चौहान, पंकज शर्मा, भानुप्रताप, दीपक कुमार, उमेश श्रीवास्तव, जीआइसी ज्वालापुर के प्रधानाचार्य रोहिताश्वर कुंवर आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran