संवाद सहयोगी, रुड़की: सिविल अस्पताल में भर्ती तीन गर्भवती महिलाओं में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। डिलीवरी के बाद तीनों महिलाओं की रिपोर्ट आई है। फिलहाल तीनों को अस्पताल के ही एक अलग कमरे में रखा गया है। वहीं डिलीवरी कराने वाली एक महिला चिकित्सक समेत चार स्टाफ नर्स और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को होम क्वारंटाइन किया गया है। जिस लेबर रूम में डिलीवरी हुई थी। उससे सील कर दिया गया है।

सिविल अस्पताल रुड़की में शनिवार को इन तीन गर्भवती महिलाओं को डिलीवरी के लिए लाया गया था। आनन फानन में उनका कोविड-19 का सैंपल लिया गया। हालत ठीक न होने के चलते तीनों को लेबर रूम में ले जाया गया। जहां तीनों महिलाओं का सुरक्षित प्रसव कराया गया है। तीनों महिलाएं व उनके नवजात ठीक हैं, लेकिन अस्पताल में उस समय हड़कंप मच गया। जब तीनों महिलाओं की कोविड-19 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. संजय कंसल ने बताया कि तीनों महिलाओं और उनके नवजात को एक अलग कमरे में शिफ्ट कर दिया गया है। डिलीवरी को 24 घंटे नहीं हुए हैं। इसलिए उन्हें अभी कहीं और शिफ्ट नहीं किया जा सकता है। अस्पताल का स्टाफ पूरी एहतियात बरतते हुए जच्चा-बच्चा की देखभाल कर रहा है। डिलीवरी कराने वाली महिला चिकित्सक, स्टाफ नर्स एवं अन्य स्टाफ को होम क्वारंटाइन किया गया है। चिकित्सक समेत 14 स्टाफ के कोविड-19 के सैंपल लिये गए हैं। जिस लेबर रूम में तीनों महिलाओं की डिलीवरी हुई है। उसे सैनिटाइज कराने के बाद फिलहाल बंद कर दिया गया है। अस्पताल में सैनिटाइजेशन का कार्य लगातार चल रहा है। हर दो घंटे में सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है। कोरोना संक्रमित आई महिलाओं में एक पूर्वी दीनदयाल, दूसरी भारत नगर एवं तीसरी महिला कलियर की रहने वाली है। कलियर निवासी यह महिला फिलहाल सत्ती मोहल्ला में रह रही है। तीनों महिलाओं के संपर्क में आए व्यक्तियों को चिह्नित किया जा रहा है। उनकी कोविड-19 की जांच कराई जाएगी। साथ ही उन्हें होम क्वारंटाइन किया जाएगा। इसके अलावा महिलाओं के निवास स्थान के आसपास के क्षेत्र को प्रशासन सील करा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस