रुड़की, जेएनएन। ड्रग कंट्रोलर के नेतृत्व में शनिवार को एफडीए (फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन) की टीम ने अवैध रूप से चल रहे तीन मेडिकल स्टोर पर छापा मारा। मेडिकल स्टोर बिना लाइसेंस के चल रहे थे। टीम ने स्टोर की चेकिंग के दौरान बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित दवाएं भी बरामद की हैं। टीम के साथ आई पुलिस ने तीनों मेडिकल स्टोर के संचालकों को हिरासत में लिया है। उनके खिलाफ ड्रग विभाग की ओर से मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है। एफडीए की इस कार्रवाई से मेडिकल स्टोर संचालकों में हड़कंप की स्थिति रही। टीम के शहर में होने से कई संचालकों ने मेडिकल स्टोर बंद कर दिए। 

एफडीए की टीम शनिवार को पूरे दलबल के साथ ड्रग कंट्रोलर ताजवर सिंह के नेतृत्व में तेलीवाला पहुंची। टीम ने तेलीवाला और शक्तिविहार में अलग-अलग चल रहे तीन मेडिकल स्टोर पर एक साथ छापा मारा। छापे के दौरान अधिकारियों ने मेडिकल स्टोर संचालकों से स्टोर का लाइसेंस दिखाने को कहा, लेकिन कोई भी लाइसेंस नहीं दिखा पाया। इसके बाद टीम के सदस्यों ने मेडिकल स्टोर में रखी दवाओं की छानबीन शुरू की। इस दौरान टीम को मेडिकल स्टोर से कई प्रतिबंधित दवाएं मिली, जिनका इस्तेमाल नशे के रूप में हो रहा है। कुछ दवाओं को नकली होने के संदेह में भी जब्त किया गया। टीम ने तीनों मेडिकल स्टोर को सील करा दिया। 

टीम के साथ मौजूद गंगनहर कोतवाली पुलिस ने तीनों मेडिकल स्टोर के संचालकों को हिरासत में ले लिया। पुलिस तीनों को गंगनहर कोतवाली ले आई। टीम जब्त दवाओं को गंगनहर कोतवाली ले आई। ड्रग कंट्रोलर देहरादून ताजवर सिंह ने बताया कि तीनों मेडिकल स्टोर के संबंध में शिकायत मिली थी, जिसके चलते यह कार्रवाई की गई। तीनों मेडिकल स्टोर अवैध रूप से चल रहे थे।

मेडिकल स्टोर से प्रतिबंधित दवाएं भी मिली हैं। कुछ दवाओं के नकली होने का संदेह है। उनके सैंपल जांच को भेजे जा रहे हैं। मामले में तीनों मेडिकल स्टोर संचालकों के खिलाफ गंगनहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है। टीम में नोडल अधिकारी देहरादून राजेंद्र रावत, ड्रग इंस्पेक्टर देहरादून नीरज कुमार, जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी राजेंद्र सिंह पाल, खाद्य सुरक्षा अधिकारी संतोष कुमार सिंह, खाद्य सुरक्षा अधिकारी कपिल देव, ड्रग इंस्पेक्टर हरिद्वार सीपी सिंह आदि मौजूद रहे। 

यह भी पढ़ें: टूर-ट्रैवल ऑपरेटर्स पर जीएसटी की ताबड़तोड़ छापेमारी, पढ़िए पूरी खबर

डेयरी से लिए दूध और पनीर के सैंपल

एफडीए की टीम ने तेलीवाला स्थित एक डेयरी से दूध और पनीर के सैंपल लिए हैं। खाद्य सुरक्षा अधिकारी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि दोनों सैंपल को जांच के लिए लैब भेजा रहा है। यदि लैब में दोनों सैंपल फेल आए तो डेयरी संचालक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: उत्‍तराखंड में एनआरएचएम घोटाले में पूरी दवा खरीद की होगी जांच 

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप