लालढांग, जेएनएन। श्यामपुर क्षेत्र में जंगली हाथी का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन हाथी गांवों में खेत की चाहरदीवारी तोड़ उनकी फसलों को तहस-नहस कर रहे हैं। रात हाथी ने दो लोगों की दीवार तोड़ने के साथ ही गाजीवाली के पूर्व प्रधान पर हमला भी कर दिया। पूर्व प्रधान ने बमुश्किल वहां से भागकर अपनी जान बचाई।

चंडीघाट से लेकर चिड़ियापुर तक गांव के दोनों ओर घना जंगल होने के कारण आए दिन जंगली जानवर रिहायसी इलाके में पहुंचकर ग्रामीणों की फसल को नुकसान पहुंचा रहे हैं। पिछले करीब एक माह से जंगली हाथी ग्रामीणों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। शनिवार देर रात 11 बजे हाथी ने श्यामपुर स्थित लखेड़ा टेंट हॉउस के समीप पहुंच अशोक रावत के खेत की दीवार तोड़ डाली। 

उसके बाद गाजीवाली में हरीश चंद्र के घर की दीवार तोड़ने के साथ ही पास ही गाजीवाली के पूर्व प्रधान अपने खेत में रखवाली कर रहे थे। तभी हाथी ने उन पर धावा बोल दिया। प्रधान नंदराम ने शोर मचाया तो आसपास के लोग वहां पहुंच गए और शोर-शराबा मचाने लगे। काफी देर भागने के बाद नंदराम ने भागकर अपनी जान बचाई। नहीं तो कोई बड़ा हादसा हो सकता था। 

वहीं, वन क्षेत्राधिकारी श्यामपुर खुशाल सिंह रावत ने बताया कि हाथी आने की सूचना मिलते ही उन कर्मियों को मौके पर भेजा जाता है, रात भी सूचना आते ही उन कर्मी मौके पर पहुंच गए थे, लेकिन तब तक हाथी वहां से जा चुका था।

यह भी पढ़ें: हरिद्वार में हाथी का आतंक, भेलकर्मी को मार डाला

यह भी पढ़ें: भेल मार्ग पर हाथियों का उत्पात, ऑटो पलटकर राहगीरों को दौड़ाया

यह भी पढ़ें: कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के पास हाथी ने लूटा राशन, वन विभाग ने फायरिंग कर भगाया

Posted By: Raksha Panthari