जागरण संवाददाता, देहरादून। एसओजी की टीम ने कोविड-19 की फर्जी आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट तैयार करने वाले एक किशोर को पकड़ा है। किशोर से छह फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट, एक कलर प्रिन्टर, एक आई कार्ड साइबर सेल, एक आधार कार्ड और एक मोबाइल बरामद किया है।

इंस्पेक्टर ऐश्वर्या पाल ने बताया कि किशोर 12 कक्षा में पड़ता है और मोबाइल के साथ ही लैपटाप की दुकान पर काम करता है। किशोर को मोबाइल की अच्छी जानकारी है। इसी का फायदा उठाकर उसने मोबाइल में पिक्सआर्ट और अडॉव लाइट रूम और अन्य एप डाउनलोड किए थे।

आहूजा लैब की आनलाइन आरटीपीसीआर रिपोर्ट को निकाल कर एप के माध्यम से आहूजा लैब की असली रिपोर्ट को एडिट कर पहले अपने नाम की एक फर्जी आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट तैयार की। फिर जरूरतमंद ग्राहकों को अपनी फर्जी रिपेार्ट दिखाकर यकीन दिलाता था कि वह बिना सैंपल के ही आहूजा लैब की आरटीपीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट तैयार करता है। प्रति रिपोर्ट वह 150 रुपये वसूल करता था।

यह भी पढ़ें- Dehradun Crime News: साइबर ठग ने पालिसी की किस्त के नाम पर दो लाख रुपये ठगे

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप