हरिद्वार। गजब। गुरुजी तो जितना कर रहे हैं वह ही कम है। एक गुरुजी ने तो विद्यालय जाना ही छोड़ दिया। अपने स्थान पर उन्होंने एक युवक को पंद्रह सौ रुपये महिना में रख लिया। इसका खुलासा होने पर अब शिक्षा महकमें ने भी कड़ा रुख अपनाया है।
निदेशक विद्यालयी शिक्षा डी. सेंथिल पांडियन ने गत दिवस विभिन्न स्कूलों का आकस्मिक निरीक्षण किया। इसके बाद आज उन्होंने कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान यह मामला सामने आया।
पता चला कि बहादराबाद ब्लाक के एक स्कूल में शिक्षक ने पंद्रह सौ रुपये मासिक में एक युवक को रखा हुआ है।
शिक्षक युवक को स्कूल में अपने स्थान पर भेज रहे थे। मामला खुलने पर शिक्षा निदेशक ने बीईओ बहादराबाद के खिलाफ जांच
करने के साथ ही शिक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए।
साथ ही उन्होंने संतोषजनक कार्य न पाए जाने पर सभी बीआरसी और सीआरसी को पद से हटाते हुए मूल विद्यालय भेजने के आदेश दिए।
लक्सर के बीईओ की कार्यप्रणाली पर भी नाराजगी जताते हुए उन्हें छह माह का समय दिया गया। उन्होंने स्पष्ट किया कि यदि इस अवधि में सुधार न किया तो उन्हें प्रशासनिक कैडर से हटा दिया जाएगा।
पढ़ें-बोर्ड परीक्षा में मूल्यांकन में लापरवाही करने वाले शिक्षक चिह्नित

Posted By: Bhanu