हरिद्वार, जेएनएन। दिल्ली-ऋषिकेश पैसेंजर की एक बोगी में अचानक आग लगने से अफरा-तफरी मच गई। घटना हरिद्वार रेलवे स्टेशन के मेला प्लेटफार्म नंबर आठ पर हुई। गनीमत रही कि बोगियां खाली थी और समय रहते आग पर काबू पा लिया गया। अग्निकांड में कोई जनहानि नहीं हुई है। अलबत्ता एक बोगी की सीटें, खिड़कियां और पंखे जलकर क्षतिग्रस्त हो गए। आरपीएफ और जीआरपी ने आग लगने के कारणों की जांच शुरू कर दी है।

दिल्ली से ऋषिकेश के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन रोजाना सुबह करीब आठ बजे हरिद्वार से बनकर चलती है। मंगलवार रात दिल्ली से लौटी ट्रेन ऋषिकेश से होकर सुबह करीब नौ बजे हरिद्वार पहुंची। ट्रेन की बोगियों को मेला प्लेटफार्म नंबर आठ पर खड़ा कर दिया गया। शाम के समय वॉशिंग लाइन पर जाने के बाद गुरुवार की सुबह से दिल्ली रवाना किया जाना था। करीब 10 बजकर 50 मिनट पर आरपीएफ हरिद्वार का हैड कांस्टेबल पुरुषोत्तम दत्त गश्त करते हुए मेला प्लेटफार्म पर पहुंचा तो एक बोगी में धुंआ निकला देखा।

नजदीक जाकर देखने पर पता चला कि ट्रेन के अंदर आग लगी हुई। सूचना पर स्टेशन अधीक्षक मृत्युंजय कुमार सिंह, जीआरपी थानाध्यक्ष अनुज सिंह, आरपीएफ प्रभारी प्रदीप शर्मा आनन-फानन  मौके पर पहुंचे और मायापुर फायर स्टेशन पर सूचना दी। जिसके बाद अग्निशमन दल की टीम आग बुझाने में जुट गई। आग कहीं अगल-बगल की बोगियों में न पहुंच जाए, इसके लिए बाकी बोगियों को आग वाली बोगी से अलग कर दिया गया। काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया।

यह भी पढ़ें: मोहब्बेवाला में दो फैक्ट्रियों में लगी आग, लाखों का हुआ नुकसान

बोगी में आग लगने की सूचना पर सिटी मजिस्ट्रेट जगदीश लाल भी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी जुटाई। ट्रेन में शॉर्ट सर्किट हुआ है या किसी ने जानबूझकर आग लगाई है, फिलहाल इस बारे में रेलवे, जीआरपी व आरपीएफ के अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं। अलबत्ता तीनों ही विभाग अपने-अपने स्तर पर मामले की छानबीन में जुट गए हैं।

यह भी पढ़ें: इलेक्ट्रॉनिक्स के गोदाम और मकान में लगी भीषण आग, 50 लाख का नुकसान

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस