लक्सर: नेशनल कन्या इंटर कॉलेज खानपुर में मंगलवार को अमर शहीद क्रांतिकारी श्रीदेव सुमन की 73 वीं पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धाजंलि देकर स्मरण किया गया। इस मौके पर छात्रों से उनके जीवन दर्शन से प्रेरणा लेने का आह्वान किया गया।

श्रद्धाजंलि कार्यक्रम में विद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ.घनश्याम गुप्ता ने कहा कि श्रीदेव सुमन बचपन से क्रांतिकारी विचारों से प्रभावित थे, उन्होंने टिहरी रियासत के खिलाफ भूख हड़ताल व महात्मा गांधी के नमक सत्याग्रह में अपना योगदान दिया। इस दौरान उन्हें 14 दिन जेल की यातना भी सहनी पड़ी। कहा कि 1939 में सामंती अत्याचारों के विरोध में टिहरी राज्य प्रज्ञा मंडल की स्थापना हुई और श्रीदेव सुमन को उसका अध्यक्ष बनाया गया। कहा उनके बलिदान की ही देन है कि एक अगस्त 1949 को टिहरी राज्य का भारतीय गणराज्य में विलय हुआ। इस मौके पर बलराम गुप्ता, रवींद्र, मुकेश, मीनू यादव, सविता धारीवाल, पंकज, मीनाक्षी, विजय कुमार, संजय गुप्ता, बबीता, अंजली, कुशमणि, सुधा, शालिनी, प्रमोद शर्मा, सोमेंद्र पंवार, अमित, ओमपाल, अशोक, बृजपाल आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस