मनीष कुमार, हरिद्वार। Haridwar Kumbh Mela 2021 कुंभ मेले में राउंड द क्लॉक सफाई को 6887 पर्यावरण मित्र तैनात होंगे। इसके लिए मेला क्षेत्र को चार सर्किल में बांटा गया है। ये सर्किल कनखल, मायापुर, भूपतवाला और गौरी शंकर हैं। खास यह कि इस बार पर्यावरण मित्र मई तक के लिए रखे जाएंगे। इनकी जिम्मेदारी कुंभ के आखिरी शाही स्नान के बाद शहर को साफ-सुथरा कर पूर्ववत स्थिति में लाने की होगी।

मकर संक्राति पर हुए पर्व स्नान के बाद 11 मार्च को कुंभ का पहला शाही स्नान होना। इसके लिए बड़ी तादात में श्रद्धालुओं के हरिद्वार पहुंचने की उम्मीद है। सो, मेला अधिष्ठान से लेकर सभी महकमे तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। संपूर्ण मेला क्षेत्र की साफ-सफाई के लिए नगर निगम को नोडल एजेंसी बनाया गया है। राउंड द क्लॉक सफाई को मेला क्षेत्र में जनवरी से मई तक के लिए 6887 पर्यावरण मित्र रखे जाएंगे। सॉलिड वेस्ट कलेक्शन के लिए पहली बार 1407 हेल्पर की भी तैनाती होगी। पूर्व में मेले के दौरान सॉलिड वेस्ट कलेक्शन को अलग से कर्मचारी नहीं रखे जाते थे।

सर्किलवार पर्यावरण मित्र व अन्य कर्मियों का विवरण

कनखल सर्किल

  • सेनेटरी इंस्पेक्टर, 32
  • सुपरवाइजर, 130
  • पर्यावरण मित्र, 2592
  • हेल्पर, 441
  • ड्राइवर, 83

मायापुर सर्किल

  • सेनेटरी इंस्पेक्टर, 24
  • सुपरवाइजर, 95
  • पर्यावरण मित्र, 1893
  • हेल्पर, 525
  • ड्राइवर, 95

भूपतवाला सर्किल

  • सेनेटरी इंस्पेक्टर, 70
  • सुपरवाइजर, 68
  • पर्यावरण मित्र, 1352
  • हेल्पर, 332
  • ड्राइवर, 68

गौरीशंकर सर्किल

  • सेनेटरी इंस्पेक्टर, 13
  • सुपरवाइजर, 52
  • पर्यावरण मित्र, 1050
  • हेल्पर, 109
  • ड्राइवर, 45

-विनोद कुमार (सहायक नगर आयुक्त, नगर निगम, हरिद्वार) ने कहा कि कुंभ मेले में प्रतिदिन 15 से 20 लाख श्रद्धालुओं के पहुंचने का अनुमान है। 50 से 60 ग्राम प्रति श्रद्धालु वेस्ट के हिसाब से रोजाना 100-120 मीट्रिक टन कूड़ा जमा होगा। इसी के मद्देनजर करीब सात हजार पर्यावरण मित्र रखे जा रहे हैं। पहली बार सॉलिड वेस्ट कलेक्शन के लिए अलग से स्टाफ रखा जाएगा। इन दिनों टेंडर की प्रक्रिया चल रही है।

यह भी पढ़ें-Haridwar Kumbh Mela 2021: हरिद्वार कुंभ मेला क्षेत्र में होंगे 10 हजार अस्थायी शौचालय

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021