हरिद्वार, [जेएनएन]: मुगल बादशाह बाबर व अन्यों पर अयोध्या स्थित श्रीराम मंदिर तोडऩे, अवैध कब्जा करने, पवित्र कुरान शरीफ की शिक्षाओं के खिलाफ मस्जिद बनाने पर राष्ट्रपति, उप्र के सीएम व एसएसपी फैजाबाद को पत्र भेजकर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

अधिवक्ता अरूण भदौरिया ने पत्र में पवित्र कुरान शरीफ का हवाला देते हुए कहा कि उसकी शिक्षाओं के अनुसार किसी भी विवादित जगह पर मस्जिद का निर्माण नहीं किया जा सकता और न ही वहां इबादत की जा सकती है। आरोप लगाया कि बावजूद इसके मुगल बादशाह , सिपहसालार मीरबाकी आदि ने अयोध्या स्थित श्री राम जन्मभूमि मंदिर पर 1528 में साजिशन हमला कर लाखों हिन्दुओं की हत्या की, मंदिर तोड़ वहां मस्जिद का निर्माण कराया। 

आरोप लगाया कि बाद में बाबर के वंशजों और आजाद भारत में मस्जिद के पैरोकार इस षड्यंत्र के भागीदार बने और मस्जिद की हिमायत में देश का माहौल खराब किया व दंगे फसाद कराए, जिसमें अब तक हजारों जान जा चुकी है, तमाम बेघर हो गए। 

अपने पत्र में अधिवक्ता ने ऐतिहासिक तथ्यों का हवाला देते हुए आरोप लगाया कि वर्ष 1992 में अयोध्या में हुई इसी तरह की कार्रवाई पर भाजपा नेताओं के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर आपराधिक मुकदमा चलाया जा रहा है, जोकि न्याय के नैंर्सिगक सिद्धांत के खिलाफ एकपक्षीय कार्रवाई है। 

यह भी पढ़ें: राममंदिर को शंकराचार्य बुलाएंगे संत सम्मेलन: स्वामी स्वरूपानंद

यह भी पढ़ें: अयोध्या में राम मंदिर बनाने को पहल करेगी अखाड़ा परिषद

Posted By: Sunil Negi