जागरण संवाददाता, हरिद्वार। Makar Sankranti 2021 मकर संक्रांति स्नान पर्व पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम रहे। मेला क्षेत्र के सात जोन और 20 सेक्टरों में करीब डेढ़ हजार पुलिसकर्मी चप्पे-चप्पे पर तैनात रहे। अर्द्धसैनिक बलों की पांच कंपनियां भी स्नान पर्व पर मुस्तैद रही। हर जोन में एएसपी और सेक्टरों में सीओ स्तर के अधिकारी तैनात रहे। कुंभ मेला आइजी संजय गुंज्याल ने बताया कि स्नान पर्व में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम के लिए पूरे मेला क्षेत्र को सात जोन व 20 सेक्टरों में बांटकर पुलिस बल की ड्यूटी लगाई गई थी। मेला क्षेत्र में सतर्क दृष्टि बनाए रखने के लिए मैपिंग किए गए 1150 निजी व संस्थागत कैमरों के साथ-साथ 96 पुलिस कैमरों का प्रयोग भी किया गया। आतंकवादी घटनाओं के दष्टिगत बम निरोधक दस्ते की पांच टीमें, घुड़सवार पुलिस, अग्निशमन दल, यातायात पुलिस और एलआइयू के अधिकारी कर्मचारी तैनात रहे।

स्नान पर्व पर श्रद्धालुओं के गंगा में पैर फिसल कर बहने और डूबने की घटनाएं रोकने के लिए जल पुलिस के साथ-साथ एसडीआरएफ और आपदा राहत दल की ड्यूटी भी लगाई गई। बोट सहित हरकी पैड़ी, भूमा निकेतन, प्रेमनगर आश्रम, जटवाड़ा पुल, नमामि गंगे घाट, चंडी घाट आदि जगहों पर टीमें मुस्तैद रही।

डीएम-एसएसपी ने किया भ्रमण, जानी व्यवस्थाएं

स्नान पर्व के दौरान जिलाधिकारी सी रविशंकर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने मेला क्षेत्र का भ्रमण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। दोनों अधिकारी हरकी पैड़ी भी पहुंचे और गंगा घाटों का मुआयना किया। सुरक्षा, यातायात व अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी लेते हुए आवश्यक निर्देश भी अधीनस्थों को दिए। इस दौरान एसडीएम गोपाल सिंह चौहान, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय भी साथ मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें-Makar Sankranti 2021: ट्रेन से हरिद्वार पहुंचे सिर्फ 6500 श्रद्धालु, रेलवे की व्यवस्थाए रहीं चाक-चौबंद

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021