जागरण संवाददाता, हरिद्वार: देशी और अंग्रेजी शराब के ठेका संचालक नियम कानूनों को ठेंगे पर रखने से बाज नहीं आ रहे हैं। शहरी क्षेत्र में ही शराब के ठेके देर रात तक खोले जा रहे हैं। सिडकुल थानाक्षेत्र में लूट की संदिग्ध घटना 11 बजे के बाद होना बताई गई है। इससे साफ है कि ठेका 11 बजे के बाद तक खुला हुआ था। ज्वालापुर, जगजीतपुर व बहादराबाद क्षेत्र के कई ठेके देर रात तक खुलने की बात सामने आ रही है।

आबकारी विभाग की ओर से ठेका संचालकों को स्पष्ट रूप से निर्देश दिए जाते हैं कि ठेका रात 10 बजे के बाद नहीं खुलेगा। लेकिन इन दिनों आबकारी, पुलिस और प्रशासन के तमाम नियमों को ठेका संचालक हवा में उड़ा रहे हैं। सिटी क्षेत्र में अधिकांश ठेके रात में 11 बजे तक खुल रहे हैं। इतना ही नहीं आस पास के होटल ढाबों पर शराब पीने और पिलाने का दौर भी देर रात तक चल रहा है। जिससे अप्रिय घटनाएं भी सामने आ रही हैं। सिडकुल क्षेत्र में अंग्रेजी शराब के ठेके पर 95 हजार रुपये लूट की घटना में सेल्समैन खुद 11 बजे के बाद का समय बता रहे हैं। पुलिस यह भी मान रही है कि युवक शराब खरीदने के लिए ठेके पर पहुंचे होंगे। इससे साफ है कि ठेका देर रात तक खुल रहा था। बहादराबाद, ज्वालापुर, बैरियर नंबर छह, जगजीतपुर व श्यामपुर क्षेत्र के शराब ठेके देर रात तक खुलने की शिकायतें भी पुलिस तक पहुंच रही हैं। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय का कहना है कि इस बारे में सभी थाना व कोतवाली प्रभारियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं। औचक छापेमारी भी की जाएगी। देर रात तक खुलने वाले ठेकों के अलावा अवैध रूप से शराब पीने व पिलाने वाले होटल, ढाबा संचालकों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस