जागरण संवाददाता, रुड़की। Sawan Kanwar Yatra 2021  कोरोना के चलते कांवड़ मेले पर प्रतिबंध के बावजूद श्रावण मास के पहले दिन पुलिस ने हरिद्वार जनपद की सीमा के अलग-अलग बार्डर से ढाई हजार से अधिक यात्रियों को वापस भेजा। भगवानपुर समेत सभी बार्डर पर वाहनों की कतार लगी रही। इन वाहनों में सवार यात्रियों के पास ना तो आरटीपीसीआर रिपोर्ट थी और ना ही हरिद्वार आने के लिए स्मार्ट सिटी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन था। वहीं पुलिस अधिकारी भी बार्डर पर जाकर व्यवस्था और सुरक्षा का जायजा लेते रहे।

रविवार को सावन मास के पहले दिन को देखते हुए बार्डर पर पुलिस पूरी तरह से सतर्क रही। भगवानपुर के काली नदी चेक पोस्ट, मंडावर बार्डर एवं तेज्जूपुर पुलिस चेकपोस्ट से 314 वाहनों को वापस भेजा गया। जिनमें 1600 से अधिक यात्री सवार थे। इसके अलावा झबरेड़ा के बीरपुर बार्डर से 35 वाहन तथा गोकुलपुर बार्डर से 45 वाहनों को वापस भेजा गया। इन वाहनों में साढ़े पांच सौ से अधिक यात्री थे। इसके अलावा नारसन बार्डर से भी 53 वाहन वापस भेजे गये। इन वाहनों में भी करीब ढाई सौ लोग सवार थे। कई जगहों पर वाहन रोकने के चक्कर में यात्रियों से विवाद भी होता रहा। लेकिन, पुलिस कर्मी किसी दबाव में नहीं आए। आने वाले दिनों में बार्डर पर और भी भीड़ बढऩे की संभावना है। भगवानपुर, नारसन और झबरेड़ा बार्डर के अलावा उत्तरप्रदेश से गांव के बीच होकर हरिद्वार जनपद की ओर आने वाले रास्तों को भी चिह्नित कर पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। इन जगहों पर भी पुलिस बल की तैनाती की गई है।

सुपर जोन प्रभारी ने लिया बार्डर का जायजा

झबरेड़ा : कांवड़ यात्रा स्थगित होने के बाद जिले को कई जोन में बांटा गया है। झबरेड़ा, नारसन व भगवानपुर जोन का सुपर जोन प्रभारी एसपी हरीश वर्मा को बनाया गया है। वहीं जोन प्रभारी पुलिस उपाधीक्षक दीपक ङ्क्षसह को बनाया गया है। सुपर जोन प्रभारी और जोन प्रभारी ने रविवार को झबरेड़ा के बीरपुर, गोकुलपुर बार्डर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कोरोना गाइडलाइन व व्यवस्था को लेकर पुलिस अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के जनसंपर्क अधिकारी इंस्पेक्टर विपिन चंद्र पाठक ने बताया कि श्यामपुर थानाक्षेत्र में चिडिय़ापुर बॉर्डर, लाडपुर से भी वाहनों में बिना आरटीपीसीआर रिपोर्ट के आने वाले यात्री लौटाए गए हैं। नारसन बॉर्डर पर रोकने के बाद दो बाइक सवारों ने चोर रास्ते से जनपद की सीमा में घुसने का प्रयास किया। उन्हें मोहम्मदपुर झाल के पास रोक लिया गया।

यह भी पढ़ें- शिव को समर्पित सावन माह आज से शुरु, पर्वतीय क्षेत्रों में 19 जबकि मैदानी में 26 को होगा पहला सोमवार व्रत

Edited By: Raksha Panthri