जागरण संवाददाता, हरिद्वार। दैनिक जागरण के सर्वधर्म प्रार्थना अभियान को संतों का समर्थन मिल रहा है। संतों ने दैनिक जागरण के इस अभियान की सराहना करते हुए सभी से 14 जून को सुबह 11 बजे इससे जुड़ने का आह्वान किया है। तमाम संतों ने अपने इंटरनेट मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर भी अपील जारी की है। कोरोना संक्रमण से जान गंवाने वाले व्यक्तियों की आत्मा की शांति और अस्पतालों में उपचार करा रहे पीडि़तों के जल्द स्वस्थ होने की कामना को प्रार्थना की जाएगी।

स्वामी अवधेशानंद गिरि (आचार्य महामंडलेश्वर, श्रीपंचदशनाम जूना अखाड़ा) का कहना है कि दैनिक जागरण सामाजिक सरोकार को लेकर हमेशा से ही सजग रहा है। संकटकाल में यह पहल देशवासियों के लिए हिम्मत और संबल बढ़ाने का काम करेगी। 14 जून को सुबह 11 बजे सभी इस अभियान से जुड़ें और दो मिनट का मौन रख ईश्वर से मृत आत्माओं की शांति और संक्रमित के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करें।

-श्रीमंहत नरेंद्र गिरि (राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद) का कहना है कि कोरोना काल में असमय ही हमारे बीच से हमारे तमाम नजदीकी दुनिया छोड़कर चले गए। उनकी आत्मा की शांति और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने को यह कदम सराहनीय है। मैं सभी से अपील करता हूं कि एक साथ जुड़े और प्रार्थना करें। अपने साथियों को भी जोड़े, ताकि देश-दुनिया को संदेश जाए कि इस संकट काल में भारत एक है।

-स्वामी कैलाशानंद गिरि (आचार्य महामंडलेश्वर श्रीपंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी) का कहना है कि संकट की इस घड़ी में इस तरह के आयोजन की आवश्यकता महसूस हो रही थी, संत समाज अभियान के साथ है और इसमें बढ़-चढ़कर भाग लेगा। सर्वधर्म प्रार्थना एकता के संदेश देने के साथ-साथ सभी को साथ लेकर चलने, उन्हें संकट काल में अपने प्रियजनों के बिछड़ने के बाद अकेला न होने का अहसास दिलाने को बेहद जरूरी है।

-स्वामी गिरजानंद का कहना है कि दैनिक जागरण की यह पहल वर्तमान समय के लिहाज से जरूरी है। इस वक्त देश में कोरोना के कारण अपने प्रियजनों को हिम्मत और संबल प्रदान करने के लिए इससे बढिय़ा और बेहतर तरीका और कोई नहीं। दैनिक जागरण को इसके लिए साधुवाद, मेरी सभी से अपील है कि वह इस मानवतावादी कार्यक्रम से अवश्य जुड़े।

-स्वामी बालकानंद गिरि (आचार्य महामंडलेश्वर, श्रीपंचायती आनंद अखाड़ा) का कहना है कि सर्वधर्म प्रार्थना और मौन कार्यक्रम के आयोजन के लिए साधुवाद। मेरी ओर से सभी से अपील की गई है कि वह 14 जून को सुबह 11 बजे अपने-अपने घरों, कार्यालयों, दुकान आदि सभी जगहों से जहां वह उस वक्त मौजूद हैं, एक साथ जुड़े और दो मिनट मौन रख ईश्वर से मृत आत्माओं की शांति और कोरोना संक्रमित के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करें।

-श्रीमहंत रविंद्र पुरी (सचिव श्रीपंचायती अखाड़ा, निरंजनी) का कहना है कि हम इससे जुड़े हैं और सभी का आह्वान करते हैं कि वह भी अभियान जुड़े। मृत आत्माओं की शांति को प्रार्थना करें, जो पीडि़त इलाज करा रहे हैं, उनके स्वस्थ होने की कामना करें। सभी 14 जून को सुबह 11 बजे अपने-अपने घरों, कार्यालयों, दुकान आदि सभी जगहों से एक साथ जुड़े और दो मिनट मौन रख ईश्वर से मृत आत्माओं की शांति और संक्रमित के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करें।

यह भी पढ़ें-सर्व धर्म प्रार्थना में हर कोई होना चाहता है शामिल, 14 जून को सुबह 11 बजे पूरे प्रदेश में होगी सर्व धर्म प्रार्थना

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप