हरिद्वार, जेएनएन। लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद हिंदूवादी नेता साध्वी प्राची ने अपनी जान को खतरा बताया है। साध्वी प्राची ने एसएसपी हरिद्वार से गनर की मांग करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को पत्र भेजकर अवगत कराया है। साध्वी ने हरिद्वार में पत्रकार वार्ता कर कांग्रेस नेताओं और मौलानाओं को आड़े हाथों भी लिया। साथ ही कमलेश तिवारी के हत्यारों को सख्त से सख्त सजा दिलाने की मांग की है। 

विहिप से जुड़ी साध्वी प्राची ने शनिवार को हरिद्वार प्रेस क्लब में पत्रकार वार्ता की। इस दौरान उन्होंने कहा कि उन्हें दस सालों से जान-माल की धमकी मिल रही है। बिजनौर के मौलाना अनवारुल हक ने कमलेश तिवारी के साथ-साथ उन्हें मारने वाले को 51 लाख रुपये देने की बात भी कही थी। साध्वी प्राची ने बताया कि वर्ष 2016 में उन्हें आतंकी संगठन आइएसआइएस से भी धमकी मिल चुकी है। इसके साथ ही वर्ष 2014 में रुड़की के रामनगर में विहिप की बैठक में बम विस्फोट के समय वह भी मौजूद थी। इसके बावजूद पुलिस ने उनकी सुरक्षा को कभी गंभीरता से नहीं लिया। 

साध्वी प्राची का ये भी कहना है कि कमलेश तिवारी की हत्या के बाद यह तो साफ हो गया है कि षड्यंत्रकारी ताकतें उनके साथ भी अनहोनी कर सकती है। इसलिए उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई जाना चाहिए। वहीं, एक सवाल के जवाब में साध्वी प्राची ने कहा कि फतवे जारी करने वाले मौलानाओं पर सरकार को कड़ा एक्शन लेना चाहिए।

यह भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल में हिंदुओं की हत्या पर जताया रोष, राष्ट्रपति शासन की मांग Dehradun News

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए साध्वी ने कहा कि कांग्रेस के बड़े नेता महीनों तक विदेश में कहां घूमकर आते हैं इसकी भी जांच सरकार को करानी चाहिए। कांग्रेस नेता पाकिस्तान की भाषा बोलते हैं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उप्र में हिंदू शेर की सरकार है। कमलेश तिवारी के हत्यारों को सजा जरूर मिलेगी।  

यह भी पढ़ें: कांग्रेसियों ने स्वास्थ्य सेवाओं पर उठाए सवाल, डीजी हेल्थ से की ये मांग Dehradun News

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप