जागरण संवाददाता, हरिद्वार: राजाजी टाइगर रिजर्व के वार्डन के घर दून से आई विजिलेंस टीम ने मंगलवार को छापेमारी की। हालांकि विजिलेंस को मौके पर बिजली चोरी का मामला नहीं मिला। शिकायत थी कि वार्डन बीते सात साल से बिजली चोरी कर रहे हैं।

वार्डन कोमल सिंह का बिल्केश्वर स्थित डीएफओ कार्यालय परिसर में आवास है। पीपुल्स फॉर एनीमल संस्था के एक सदस्य की शिकायत पर मंगलवार को दून से आई विजिलेंस ने छापेमारी की। विजिलेंस एई हनुमान सिंह रावत ने बताया कि उन्हें शिकायत मिली थी कि वार्डन सात साल से बिजली चोरी कर रहे हैं। जांच में पाया कि एक ही मीटर से उनके आवास और कार्यालय का कनेक्शन है। जांच में मीटर खराब मिला। इस पर विजिलेंस ने ऊर्जा निगम के जेई को तलब किया। इधर, वार्डन कार्यालय के कर्मियों के बिल दिखाने पर स्थिति साफ हुई कि मीटर में खराबी के चलते बिल आइडीएफ में प्रतिमाह 11, 176 रुपये के हिसाब से आ रहा है। बकाया करीब ढाई लाख से अधिक का है। विजिलेंस ने जेई एचएस वोहरा को मीटर बदलने के निर्देश दिए। इधर, वार्डन कोमल सिंह ने बताया कि घर और कार्यालय एक ही बिल्डिग में होने के चलते वह बिजली का उपयोग कर रहे हैं। बकाया बिल का कुछ भुगतान विभाग की ओर से किया जा चुका है। शेष भुगतान के लिए भी विभाग को लिखा जा चुका है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप