संवाद सूत्र, कलियर: सड़क हादसे में युवक की मौत के मामले में आक्रोशित ग्रामीणों ने इमलीखेड़ा पुलिस चौकी का घेराव किया। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि हादसे की सूचना के बावजूद पुलिस दो घंटे बाद मौके पर पहुंची। पुलिस समय से पहुंचती तो रोहित की जान बचाई जा सकती थी। ग्रामीणों ने पुलिस की मिलीभगत से ओवरलोड वाहन सड़क पर संचालित होने के आरोप लगाए। सीओ रुड़की ने कार्रवाई का आश्वासन देते हुए ग्रामीणों को शांत कराया।

शनिवार सुबह इमलीखेड़ा गांव के पास सड़क किनारे धंसी ओवरलोड ट्रैक्टर-ट्रॉली की चपेट में आने से हकीमपुर तुर्रा गांव निवासी रोहित की मौत हो गई थी। ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस को सूचना दी गई थी, लेकिन दो घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची थी। यदि पुलिस समय रहते पहुंचती तो रोहित की जान बच सकती थी। युवक की मौत से आक्रोशित ग्रामीणों ने शनिवार देर रात इमलीखेड़ा पुलिस चौकी का घेराव किया। ग्रामीणों ने पुलिस पर घटनास्थल पर देरी से पहुंचने और ओवरलोड वाहनों पर कार्रवाई नहीं करने के आरोप लगाए। हंगामा बढ़ने से पुलिस के हाथ-पांव फूल गए। मामला तूल पकड़ने पर सीओ चंदन सिंह बिष्ट मौके पर पहुंचे और ओवरलोड वाहनों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया। साथ ही सड़क हादसे में कार्रवाई की बात कही। आश्वासन के बाद ग्रामीणों का गुस्सा शांत हो सका।

आरोपित वाहन चालक गिरफ्तार

कलियर: जिस ओवरलोड ट्रैक्टर-ट्रॉली की चपेट में आने से रोहित की मौत हुई थी। पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। सीओ चंदन सिंह बिष्ट ने बताया कि आरोपित चालक मेहताब निवासी नाहर, यमुनानगर, हरियाणा को गिरफ्तार कर लिया गया है। वाहन को सीज कर दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस