जागरण संवाददाता, हरिद्वार: जिले में डेंगू का डंक दिनों-दिन गहरा रहा है। शुक्रवार को सात नये संदिग्ध रोगी मिले। इसमें से एक रोशनाबाद जिला कारागार का बंदी है। तीन दिन के भीतर जिला कारागार में डेंगू के दो संदिग्ध मरीज सामने आ चुके हैं। ऐसे में जिला कारागार में डेंगू से बचाव के उपायों पर सवाल खड़ा हो रहा है। शुक्रवार को कुल सात नये संदिग्ध रोगी मिलने से इनकी संख्या 34 पर जा पहुंची है। विभाग इनमें से दो में डेंगू की पुष्टि कर रहा है।

शुक्रवार को शहर के अलग-अलग मोहल्लों के अलावा रोशनाबाद कारागार के एक बंदीरक्षक समेत सात लोगों में डेंगू के प्राथमिक लक्षण मिलने की रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग के मलेरिया ¨वग को मिली। इससे वे सकते में आए गए। जिला मलेरिया अधिकारी गुरनाम ¨सह ने बताया कि शुक्रवार को सात नये संदिग्ध रोगी मिले हैं। इसमें एक रोशनाबाद जिला कारागार का बंदी है। शेष अन्य मरीजों में दो ज्वालापुर, एक-एक कनखल, ब्रह्मपुरी, शेखपुर, ललतारौ पुल के पास का रोगी है। जिला मलेरिया अधिकारी गुरनाम ¨सह ने बताया कि शनिवार को टीम जिला कारागार रोशनाबाद जाएगी। वहां पर डेंगू से बचाव के उपायों पर जागरूकता के साथ ही डेंगू का लार्वा भी तलाश कर नष्ट कराएंगे। बताया शनिवार को 23 मरीजों के रक्त सैंपल का एलाइजा की जांच कराई जाएगी। बताया कि डेंगू से संबंधित अब तक 34 केस सामने आए हैं। इसमें से दो में डेंगू की पुष्टि बाहर के अस्पतालों में एलाइजा जांच रिपोर्ट के आधार पर हो चुकी है।

जेलर एसएम ¨सह का कहना है जेल में जहां भी पानी जमा होगा, उसे गिराकर सफाई करा रहे हैं। अन्य जगह पर सफाई के इंतजाम के साथ ही, जिनमें डेंगू बुखार के लक्षण दिख रहे हैं, उनका इलाज भी कराया जा रहा है।

Posted By: Jagran