हरिद्वार, जेएनएन। कांवड़ यात्रा पर मंडराए संकट को देखते हुए अब प्रशासन बाहरी राज्यों के शिवभक्तों को पोस्ट आफिस के जरिये गंगाजल भिजवाएगा। इसके लिए भक्तों को अपने निकटतम पोस्ट आफिस में जाना होगा, जहां से वह इसे खरीद सकते हैं।

हरिद्वार में भगवान शिव को श्रावण मास की शिवरात्रि पर जलाभिषेक करने के लिए देश की सबसे बड़ी धार्मिक यात्रा कांवड़ यात्रा होती है। कांवड़ यात्रा में सैकड़ों किलोमीटर की लंबी यात्रा करने के बाद शिवभक्त अपने गांव और अन्य प्रसिद्ध शिवमंदिरों में जाकर भगवान शिव को जलाभिषेक करते हैं। इस बार यह कांवड़ यात्रा छह जुलाई से शुरू होनी थी, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते सरकार की ओर से कांवड़ यात्रा को स्थगित करने का निर्णय लिया है। 

जिलाधिकारी सी रवि शंकर ने बताया कि इस बार कांवड़ मेले में डाक विभाग को भी शामिल किया जा रहा है। जिससे दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश के सभी पोस्ट आफिसों में गंगा जल उपलब्ध कराया जाएगा, ताकि श्रद्धालुओं को गांव में ही जलाभिषेक करने के लिए गंगाजल उपलब्ध हो जाए। गांव-गांव के पोस्ट आफिसों में गंगा जल पहुंचाने के लिए देहरादून के अधिकारियों से बातचीत कर निर्णय लिया है। इसके लिए शासन की ओर से भी अनुमति ले ली गई है। इसके लिए जल्द ही पोस्ट आफिसों के अधिकारी कार्रवाई शुरू करेंगे।

उधर, डाक मंडल देहरादून के प्रवर अधीक्षक एपी चमोला का कहना है कि डीएम हरिद्वार से इस संबंध में बातचीत हुई है, जिसके लिए उच्चाधिकारियों से स्वीकृति लेने के बाद व्यापक स्तर से गंगा जल विभिन्न राज्यों के गांव-गांव को पोस्ट आफिस में पहुंचाने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि जिन जिन राज्यों से कांवड़ यात्री पहुंचते हैं उन राज्यों के पोस्टआफिस में गंगा जल ट्रेन व गाड़ियों के माध्यम से भिजवाया जाएगा। वहां से आम आदमी आसानी से गंगा जल खरीद सकेंगे। उन्होंने बताया कि अभी तक इसके दाम तय नहीं किए गए हैं, जल्द ही कीमतों का भी निर्धारण कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: हरिद्वार में अस्थि विसर्जन करने के लिए आने वालों को मिली राहत

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021