v style="text-align: justify;">हरिद्वार, [जेएनएन]: कनखल थानाक्षेत्र के मिस्सरपुर गांव में नाबालिग किशोरी की शादी पुलिस ने रुकवा दी। कुछ लोगों की शिकायत पर कनखल पुलिस बरात से पहले ही गांव पहुंच गई। जांच में किशोरी की उम्र 18 से छह माह कम निकली। पुलिस के समझाने पर परिजन छह माह बाद शादी करने पर राजी हो गए। इसके बाद बरात गांव में पहुंची और घुड़चढ़ी से लेकर खाने पीने तक की सारी औपचारिकताएं पूरी हुईं। मगर फेरे और शादी की बाकी रस्में पूरी नहीं की गई। बरात बिन दुल्हन लौट गई।

पुलिस के मुताबिक पिरान कलियर थानाक्षेत्र के इमलीखेड़ा से कुछ लोग सुबह जगजीतपुर पुलिस चौकी पर पहुंचे और पुलिस को लिखित शिकायत देकर बताया कि मिस्सरपुर गांव में एक नाबालिग किशोरी की शादी की जा रही है। थाना प्रभारी अनुज सिंह व जगजीतपुर चौकी प्रभारी डीपी काला ने उनसे पूरी जानकारी ली। उन्होंने किशोरी की मार्कशीट भी पुलिस को दिखाई। जिसमें किशोरी की उम्र 17 साल छह माह थी। पुलिस ने लड़की के परिजनों व रिश्तेदारों को कानूनी तौर पर समझाते हुए शादी न करने के लिए कहा। परिजन इस पर राजी हो गए। 
कुछ देर बाद ही सहारनपुर के एक गांव से बारात मिस्सरपुर पहुंच गई। बैंड बाजे के साथ बराती दूल्हे के साथ पंडाल में पहुंचे। वर और वधु पक्ष के जिम्मेदार लोगों ने बातचीत कर छह माह बाद शादी की बात तय की। खाना खाने के बाद बरात लौट गई। एसओ कनखल अनुज सिंह ने बताया कि शादी रुकवा दी गई है। परिजन छह माह बाद बेटी की शादी करेंगे।

By Raksha Panthari