संवाद सूत्र, बहादराबाद: पढ़ाई कराने के नाम पर बंधक बनाकर रखी गई किशोरी को पुलिस ने छुड़ा लिया। किशोरी मूल रूप से करोलबाग (दिल्ली) की रहने वाली है और उसके पिता की मौत हो चुकी है। पुलिस ने किशोरी को मुक्त कराते हुए उसके परिजनों को सूचना दी। देर शाम परिजन हरिद्वार के लिए रवाना हो गए।

बहादराबाद की आनंदम सिटी में रहने वाले अभिषेक के दोस्त राजेश सहगल की कुछ दिन पहले मौत हो गई थी। राजेश सहगल का परिवार करोलबाग (दिल्ली) में रहता है। दोस्त की मौत होने के बाद अभिषेक उसकी बेटी को पढ़ाने के लिए अपने घर ले आए। तब से वह यहीं रहकर पढ़ाई कर रही थी। शुक्रवार को कमरे में बंद किशोरी ने खिड़की से सफाईकर्मी को आवाज दी और बताया कि अंकल ने मुझे कमरे में बंद किया हुआ है, जबकि पूरा परिवार घर से बाहर गया हुआ था। सफाईकर्मी ने स्थानीय निवासी बीर ¨सह सैनी को यह जानकारी दी। उनकी सूचना पर बहादराबाद पुलिस कॉलोनी में पहुंची और ताला तुड़वाकर किशोरी को बाहर निकाला। किशोरी से पूछताछ के बाद पुलिस ने उसके परिजनों को सूचना दी। किशोरी की मां मधु सहगल ने इस पर हैरानी जताई। बहादराबाद थाना प्रभारी मनोहर भंडारी ने बताया कि किशोरी के परिजनों को बुलाया गया है। किशोरी को उनके सुपुर्द किया जाएगा। किशोरी के परिजन लिखित शिकायत देते हैं तो मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई भी की जाएगी।

Posted By: Jagran