जागरण संवाददाता, हरिद्वार। Makar Sankranti 2021 मकर सक्रांति स्नान पर्व के दौरान पुलिस ने अपने मित्रता, सेवा, सुरक्षा के ध्येय वाक्य को साकार किया। स्नान को आए बुजुर्ग व बीमार श्रद्धालुओं के लिए पुलिसकर्मी देवदूत साबित हुए। पुलिसकर्मियों ने बुजुर्ग का हाथ पकड़कर गंगा में स्नान कराया। हादसे की आशंका को देखते हुए सीढ़ि‍यां चढ़ने उतरने में श्रद्धालुओं की मदद की। श्रद्धालुओं ने पुलिसकर्मियों को धन्यवाद दिया, अफसरों ने शाबाशी दी।

कुंभ मेले में बुजुर्ग व बीमार श्रद्धालुओं की मदद के लिए एक विशेष प्रकार का एप बनाया जा रहा है। श्रद्धालु इस एप को प्लेट स्टोर से डाउनलोड कर सकेंगे। इसके बाद हरिद्वार में किसी होटल, धर्मशाला आदि में ठहरने के दौरान वह अपनी लोकेशन सहित नाम-पता आदि की जानकारी एप में डाल देंगे। जिसके बाद कुंभ मेला पुलिस की टीम उन्हें गंगा घाट तक ले जाकर स्नान कराएगी और फिर वापस उसी स्थान पर सुरक्षित छोड़ कर आएगी।

एप बनाने का काम लगभग पूरा हो चुका है। इससे पहले गुरुवार को मकर सक्रांति स्नान पर्व पर मेला डयूटी देने वाले पुलिसकर्मियों ने बुजुर्ग व बीमार श्रद्धालुओं की मदद करते हुए उन्हें सहारा दिया। मेला व जिला की अलग-अलग टीमें हरकी पैड़ी के विभिन्न घाटों पर दिन भर मुस्तैद रही।

उपनिरीक्षक, महिला उपनिरीक्षकों की टीम ने स्नान पर्व पर सैकड़ों बुजुर्ग व बीमार श्रद्धालुओं को स्नान कराया। बुजुर्ग श्रद्धालुओं और उनके परिवार जनों ने पुलिस को धन्यवाद दिया। आइजी मेला संजय गुंज्याल, मेला एसएसपी जन्मेजय प्रभाकर खंडूरी, एसएसपी हरिद्वार सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने पुलिसकर्मियों की पीठ थपथपाई।

यह भी पढ़ें-Makar Sankranti 2021: ट्रेन से हरिद्वार पहुंचे सिर्फ 6500 श्रद्धालु, रेलवे की व्यवस्थाए रहीं चाक-चौबंद

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021