रुड़की, जेएनएन। संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हुए डीजे संचालक की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। डीजे संचालक की हत्या करने वाले कोई और नहीं, बल्कि उनके ही तीन दोस्त हैं। सबूत मिटाने के लिए उन्होंने डीजे संचालक के शव को गंगनहर में फेंक दिया। पुलिस ने इस मामले में डीजे संचालक के तीन दोस्तों समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों की निशानदेही पर मृतक की बाइक को भी एक पार्किंग से बरामद कर लिया गया है।

गंगनहर कोतवाली क्षेत्र के मकतूलपुरी निवासी डीजे संचालक मुकेश कुमार 17 दिसंबर की शाम को वरदान अपने दोस्त और उसकी गर्लफ्रेंड के साथ घर से निकला था। वरदान उसे बर्थ-डे पार्टी के बहाने घर से लेकर गया था। उसके बाद से मुकेश कुमार का कुछ पता नहीं चल पा रहा था। गंगनहर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक राजेश साह ने बताया कि परिजनों की सूचना पर मुकेश कुमार के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज की गई। इसके बाद मामले की जांच पड़ताल शुरू की गई तो वरदान का भी पता नहीं चल पाया। 

इस पर कॉल डीटेल और अन्य माध्यमों के आधार पर जांच पड़ताल को आगे बढ़ाया, जिसके चलते वरदान निवासी आदर्श नगर, करण निवासी माजरा, मन निवासी आदर्श नगर पुलिस के हत्थे चढ़ गए। कोतवाली इंस्पेक्टर राजेश साह ने बताया कि वरदान ने पूछताछ में बताया कि 17 दिसंबर को उसका जन्मदिन था। वह अपनी गर्लफ्रेंड के साथ मुकेश के घर आया। यहां चाय और नाश्ता करने के बाद वह तीनों आदर्शनगर गए। उसने अपनी गर्लफ्रेंड को वहां छोड़ दिया। इसके बाद वह मुकेश के साथ माजरा के समीप एक खाली मैदान में आ गया। इसके बाद उसके दोस्त मन, करण, दीपक और मनोज भी वहां आ गए। यहां सबने मिलकर शराब पी।

यह भी  पढ़ें: चिड़ियापुर के जंगल में बिजनौर के प्रेमी जोड़े की हुई थी हत्या Haridwar News

देर शाम किसी बात को लेकर मुकेश से उसकी मारपीट हो गई। मारपीट के दौरान वह गिर गया। इसके बाद वह फिर से शराब पीने लगे। इसके बाद दीपक और मनोज वहां से चले गए। कुछ देर बाद जब उन्होंने मुकेश को देखा तो वह अचेत हो चुका था। यह देखकर वह घबरा गए। वरदान ने अपने पिता राजकुमार को वहां बुला लिया। राजकुमार ने मुकेश के हाथ पांव मले, लेकिन वह नहीं उठा। इस पर वह बाइक से ही मुकेश को करण के कमरे पर ले आए। मुकेश की मौत हो चुकी थी। यह देखकर वह सभी घबरा गए। इसके बाद मन ने अपने भाई अंजीत को बुलाया। अंजीत लोडर चलाता है।

यह भी पढ़ें: ग्राम प्रधान की हत्‍या के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने दो घरों में लगाई आग Haridwar News

इसके बाद उन्होंने लोडर पर मुकेश के शव को रखा और सोलानी पुल से काफी आगे ले जाकर उसके शव को गंगनहर में फेंक दिया। उसका मोबाइल भी उन्होंने वहीं फेंक दिया, जबकि बाइक को मलकपुर चुंगी स्थित पार्किंग में खड़ा कर दिया। बाइक का वाइजर टूट जाने से उसे गन्ने के खेत में फेंक दिया था। इंस्पेक्टर राजेश साह ने बताया कि पांचों आरोपितों वरदान, मन, करण, अंजीत (मन का भाई) और राजकुमार (वरदान का पिता) को गिरफ्तार कर लिया गया है। मृतक के शव की तलाश गंगनहर में कराई जा रही है।

यह भी पढ़ें: रुड़की में फारूख हत्याकांड और गांव की रंजिश से तार जोड़ रही पुलिस Haridwar News

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस