संवाद सूत्र, लालढांग: बरात में गई बस हादसे के 13 मृतकों के शव गुरुवार को लालढांग लाए गए। इसके बाद गमगीन माहौल में सभी शवों का चंडीघाट स्थित नमामि गंगे घाट पर दाह संस्कार किया गया। इस दौरान स्वजन का रो-रोकर बुरा हाल रहा। वहीं जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने भी पीड़ित परिवार से मुलाकात कर हरसंभव मदद का भरोसा दिया।

प्रशासन छह माह तक मुहैया कराएगा राशन

साथ ही प्रशासन की ओर से छह माह तक राशन और संदीप की शैक्षिक योग्यता के अनुसार रोजगार मुहैया कराने की बात कही। इसके अलावा उसके तीन वर्षीय भतीजे का निश्शुल्क आापरेशन कराने के निर्देश सीएमओ को दिए। दो दिन पहले लालढांग से बरात पौड़ी के डांडा तल्ला जा रही थी। इस दौरान सिमड़ी के समीप बस की कमानी का पट्टा टूटने से बस अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गई थी।

दूल्हा संदीप के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़

हादसे में 33 बरातियों की मौत हो गई। वहीं दूल्हा संदीप के परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। हादसे में संदीप के बड़े भाई कुलदीप, बहन सतेश्वरी, बहनोई संदीप असवाल और धनवीर की मौत हो गई। गुरुवार को मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने कहा कि यह दुख की घड़ी है। संदीप से उसके शैक्षिक योग्यता के विषय में वार्ता की गई है। हालात सामान्य होने पर उसकी परिवार के गुजर-बसर का इंतजाम किया जाएगा।

ग्राम प्रधान ने मुआवजा राश‍ि बढ़ाने की रखी मांग

उन्होंने उप जिलाधिकारी पूरण सिंह राणा को तत्काल जिला पूर्ति अधिकारी को संदीप और अन्य पीड़ित परिवार के लिए छह माह का राशन दिलाने को कहा। नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान दिनेश कर्णवाल ने डीएम से मुआवजा राशि बढ़ाने की मांग की। इस पर जिलाधिकारी ने शासन से वार्ता का भरोसा दिलाया है। साथ ही जल्द गांव में कैंप लगाकर मृतक परिवार को आवश्यक सुविधाएं देने का वादा किया। सांत्वना देने वालों में एसडीएम पूरण सिंह राणा, तहसीलदार दयाराम, ग्राम प्रधान समेत आसपास के बड़ी संख्या में लोग शामिल रहे।

इनका किया गया अंतिम संस्कार

कुलदीप नाथ (36), सुरेंद्र (65), धर्मवीर (35), धीरज (35), सोनू (28), संदीप (25), संगीत (36), गुड़िया (29), मुकेश (36), वर्षा (32), सतीश (35), अनिल नाथ (29), लक्ष्य (चार वर्ष)

Uttarakhand Accident: पौड़ी बस हादसे में मृतकों की संख्‍या बढ़कर हुई 30, इस बस में सवार थे करीब 45 लोग

Edited By: Sumit Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट