हरिद्वार। मोटापा नियंत्रण के लिए पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन देश की सबसे बड़ी शोध स्टडीज कराएगा। इसके तहत देश के अलग-अलग केंद्रों में समय-समय पर आठ हजार लोगों को योग कराया जाएगा। कल पतंजलि योगपीठ में मोटापा प्रबंधन विषय पर आयोजित कार्यशाल में स्वामी रामदेव ने यह बात कही।
कार्यशाला में बाबा रामदेव ने कहा कि पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन ने दुनिया की सबसे बड़े मोटापा शोध स्टडीज पर काम करने का निर्णय लिया है। एक वर्षीय मोटापा अनुसंधान परक कार्ययोजना में देश भर से 8000 स्त्री-पुरुष शामिल किए जायेंगे, जिन्हें एक वर्ष तक पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन की ओर से निर्धारित एक ही प्रकार की दिनचर्या अपनाने, समान योगप्रणाली व समान आहार अपनाने के लिए प्रतिबद्ध किया जाएगा। बाबा रामदेव ने बताया कि विश्व भर में अब तक मोटापा नियंत्रण पर उपलब्ध शोध स्टडीज में मात्र 100 से 150 व्यक्तियों को ही सम्मिलित किया जाता है।
पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण महाराज ने बताया कि मोटापा को लेकर पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन की यह स्टडीज दुनिया की सबसे बड़ी शोध स्टडीज होगी। इससे निकले निष्कर्ष अपने में बहुमूल्य होंगे, जो दुनिया भर में फैल रहे मोटापा रोग को नियंत्रण करने में सहायक होंगे।
इस शोध अभियान को को-आर्डिनेट कर रहीं डॉ. शरली टेल्लस ने बताया कि इस अभियान के लिए देश भर के हर प्रांत से दो-दो जिले चुने गये हैं, तथा हर चयनित जिले से 100 लोगों को इस शोध में सम्मिलित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इस प्रकार देश भर से चयनित 8000 लोगों के लिए 60 स्थलों का निर्धारण किया गया है, जहां इन व्यक्तियों के मोटापे पर एक वर्ष तक शोधकार्य किया जायेगा।

पढ़ें- योग महाकुंभ में 35 देशों के 700 विदेशी साधकों ने साधा तन और मन, पढ़ें...

Posted By: Thakur singh negi