रुड़की, जेएनएन। आखिरकार 31 दिन बाद पनियाला गांव को प्रशासन ने सीलमुक्त कर दिया। इससे लोगों ने राहत की सांस ली और बाजार पहुंचकर खरीदारी की। गांव के एक जमाती के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद चार अप्रैल को पूरे गांव को सील कर दिया गया था।

सील के दौरान पनियाला गांव में प्रशासन की ओर से जरूरत की सामग्रियां ही वहां पहुंचाई जा रही थी। कुछ दिन पहले गांव के भीतर सुबह सात से एक बजे तक की ढील दी गई थी, लेकिन गांव से बाहर जाने की इजाजत नहीं थी।

स्वास्थ्य विभाग की अनुमति के बाद प्रशासन ने गांव को सीलमुक्त कर दिया। जिसके चलते सुबह सात से शाम चार बजे तक ग्रामीणों को गांव से बाहर आने और जाने की छूट मिल गई। जिला पंचायत सदस्य सपना वाल्मीकि ने बताया कि सील के दौरान ग्रामीणों को काफी मुश्किल हुई, लेकिन ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और प्रशासन का पूरा सहयोग किया। प्रशासन की ओर से जो भी दिशा-निर्देश दिये गए ग्रामीणों ने उनका पूरा पालन किया है।

एक माह बाद मिली छुट्टी 

पनियाला गांव निवासी कोरोना पॉजिटिव आए जमाती के संपर्क में आए, जिन 50 लोगों को क्वारंटाइन किया गया उनको कई दिन पहले ही छुट्टी मिल चुकी है, लेकिन इनमें शामिल पनियाला निवासी एक किशोर की जांच रिपोर्ट खो जाने के चलते उसका दोबारा सैंपल लेकर जांच कराई गई थी।

उसकी जांच रिपोर्ट फिर से नेगेटिव आई। जिसके बाद उसे क्वारंटाइन सेंटर से छुट्टी मिल सकी है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने किशोर को उसके घर पहुंचा दिया है।

मलकपुरा मोहल्ले से सील हटी 

मंगलौर के मलकपुरा मोहल्ले की सील खोल दी गई है। पनियाला निवासी जमाती के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद इस मोहल्ले को भी सील किया गया था। कोरोना पॉजिटिव जमाती को मुजफ्फरनगर से कार से लाने वाला कार चालक मलकपुरा मोहल्ले का ही रहने वाला था, इसी के चलते इस मोहल्ले को सील किया गया था।

मानक मजरा में बांटे सेनिटाइजर

भगवानपुर क्षेत्र में जमाती के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद से सील किए गए मानक मजरा गांव में हीरो मोटरकॉर्प की ओर से 200 लीटर हैंड सेनिटाइजर का वितरण किया गया। यह सेनिटाइजर ग्राम प्रधान और प्रशासन को उपलब्ध कराया गया। 

कार्यक्रम अधिकारी राव आसकर ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाकर सेनिटाइजर का वितरण करेगी। वहीं, ग्राम प्रधान महेश कुमार ने बताया कि गांव में स्वच्छता का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। ग्रामीण प्रशासन की ओर से जारी एडवाइजरी का भी पालन कर रहे हैं। इस मौके पर संदीप कुमार, डॉ. फुरकान आदि मौजूद रहे।

तीन साल का बच्चा आइसोलेशन में भर्ती

सिविल अस्पताल रुड़की के आइसोलेशन वार्ड में एक तीन साल के बच्चे को भर्ती किया गया। बच्चे के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। वहीं तीन मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। जिसके बाद उन्हें डिस्चार्ज किया जा रहा है। सिविल अस्पताल रुड़की के आइसोलेशन वार्ड में एक बच्चे को भर्ती किया गया है। 

सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि बच्चा एक श्रमिक परिवार से है। रुड़की के समीप एक श्रमिक बस्ती में रहता है। मूल रुप से बच्चे के अभिभावक बिहार के रहने वाले हैं। बच्चे को बहुत ज्यादा खांसी, जुकाम और बुखार की शिकायत है। इसी के चलते बच्चे को आइसोलेट किया गया है। 

हालांकि यह सामान्य वायरल भी हो सकता है, लेकिन एहतियात के तौर पर बच्चे के सैंपल जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। वहीं अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती तीन मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

नारसन बॉर्डर पर पुलिस और स्वास्थ्य विभाग ने बढ़ाई निगरानी

नारसन बॉर्डर पर पुलिस-स्वास्थ्य विभाग की ओर से निगरानी बढ़ा दी गई है। यहां पर बड़ी संख्या में पुलिस एवं स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती की गई है। एसएसपी ने भी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मंगलवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डी. सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने नारसन बॉर्डर का दौरा किया।

उन्होंने कहा कि जो लोग भी अनुमति लेकर बाहर से प्रदेश की सीमा में प्रवेश कर रहे हैं उनकी अच्छी तरह से थर्मल स्क्रीनिंग आदि की जाए। इसके अलावा बसों को भी सेनिटाइज किया जाए। उन्होंने यहां पर मौजूद यात्रियों से भी वार्ता की। सभी को आश्वासन दिया कि स्क्रीनिंग आदि होने के बाद उनको रवाना किया जएगा। 

साथ ही उन्होंने यहां पर सभी के भोजन आदि की व्यवस्थाओं को भी देखा। इस मौके पर एएसडीएम गोपाल सिंह चौहान, पुलिस अधीक्षक देहात स्वप्न किशोर सिंह, वाणिज्य कर अधिकारी शिवानी त्रिपाठी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: Lockdown: चौदह बीघा के मार्ग पर फिर से लगाया बैरियर Rishikesh News

13 रिपोर्ट निगेटिव

हरिद्वार जिले से चार लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए। वहीं पूर्व में लिए गए 13 संभावित मरीजों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी ने बताया कि जिले में अब तक 1428 लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं। इनमें 1311 व्यक्तियों की रिपोर्ट आ चुकी है। इनमें 1304 की निगेटिव और सात की पॉजिटिव आई है।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Lockdown: ऋषिकेश और मुनिकीरेती के बीच लोगों की आवाजाही बंद

Posted By: Bhanu Prakash Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस