जागरण संवाददाता, हरिद्वार: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने भी वेब सीरीज 'तांडव' में हिंदू  देवी-देवताओं के अपमान का आरोप लगाते हुए तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि यदि अपमान बंद नहीं किया गया तो नागा संन्यासियों के साथ संत समाज मुंबई जाकर ऐसे फिल्म निर्माताओं के खिलाफ हल्ला बोलेगा। उन्होंने चेतावनी दी कि 'हमें कमजोर न समझा जाए। हमें कमजोर समझने वालों को गोधरा कांड नही भूलना चाहिए।

रविवार को हरिद्वार स्थित निरंजनी अखाड़ा में इस मामले पर संतों की बैठक में फिल्म निर्माताओं को लेकर कड़ी नाराजगी जताई गई। बैठक की जानकारी मीडिया से साझा करते हुए उन्होंने कहा कि कुछ फिल्म निर्माताओं ने ङ्क्षहदू देवी-देवताओं का उपहास उड़ाना अपना उद्देश्य बना लिया है। श्रीमहंत ने सवाल उठाया कि मुल्ला-मौलवी, मदरसों  में होने वाली विसंगतियों और कुरीतियों को लेकर  कभी फिल्म क्यों नहीं बनाई जाती। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों को भी ऐसे फिल्म निर्माताओं के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें- Haridwar Kumbh 2021: 27 फरवरी को माघ पूर्णिमा से शुरू होगा कुंभ, एक हफ्ते पहले अधिसूचना जारी करेगी सरकार

 कहा कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद और संत-समाज इसे अब और बर्दाश्त नहीं करेगा। जरूरत पड़ी तो सभी संत नागा सन्यासी एक साथ मुंबई जाकर ऐसे सीरियल और फिल्म निर्माताओं के खिलाफ हल्ला तो बोलेंगे ही, जनांदोलन भी खड़ा किया जाएगा। श्रीमहंत ने कहा कि अखाड़ा परिषद तांडव का विरोध कर रही धार्मिक संस्थाओं को अपना समर्थन देती है। उन्होंने बॉलीवुड के प्रबुद्ध और प्रभावी लोगों का आह्वान किया कि ऐसे निर्माताओं के खिलाफ आवाज उठाकर पहले करें। 

ह भी पढ़ें- Coronavirus Vaccination: उत्तराखंड में टीकाकरण के दौरान कुछ तकनीकी दिक्कतें रहीं, कुछ व्यवहारिक

 

Edited By: Sumit Kumar