भगवानपुर, जेएनएन। हरिद्वार जिले की भगवानपुर तहसील क्षेत्र में संदिग्ध बुखार से मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सिकंदरपुर भैंसवाल गांव निवासी एक महिला की दून अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। अब तक भगवानपुर तहसील क्षेत्र में 31 लोगों की मौत हो चुकी है। 

भगवानपुर तहसील क्षेत्र के कई गांवों में पिछले कुछ समय से संदिग्ध बुखार ने जबरदस्त कहर बरपाया हुआ है। सिकंदरपुर भैंसवाल गांव निवासी एक महिला को चार दिन से बुखार आ रहा था। महिला के पति इरफान ने बताया कि उसकी पत्नी का पहले कस्बा भगवानपुर में एक चिकित्सक के यहां पर उपचार चल रहा था। इसके बाद उसे देहरादून के लिए रेफर कर दिया गया। शनिवार की सुबह महिला की तबीयत अचानक खराब हो गई और थोड़ी ही देर बाद ही उसने दम तोड़ दिया। वहीं, स्वास्थ्य विभाग बुखार से मौत के मामले में अभी तक अनभिज्ञ है। 

आपको बताते चलें कि भगवानपुर तहसील क्षेत्र में अभी तक 31 लोगों की संदिग्ध बुखार से मौत हो चुकी है। ग्रामीणों का कहना है कि अधिकांश मौत डेंगू की वजह से हुई है। वहीं, स्वास्थ्य विभाग इस बात का दावा कर रहा है कि डेंगू से एक भी मौत नहीं हुई। कई लोगों की स्वाभविक मौत हुई है तो कुछ की दूसरी बीमारियों की वजह से।यह भी पढ़ें: दून में 54 और मरीजों में डेंगू की पुष्टि, हरिद्वार में बुखार से एक की मौत

महिला समेत पांच में मिले डेंगू के लक्षण 

मंगलौर और आसपास के क्षेत्र में भी डेंगू का प्रकोप बढ़ने लगा है। शनिवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर महिला समेत पांच लोग पहुंचे। इसके बाद जब इन लोगों की प्रारंभिक जांच की गई, तो पांचों में डेंगू के लक्षण पाए गए हैं। फिलहाल, सभी का उपचार शुरू कर दिया गया है। उनको सतर्कता बरतने की सलाह भी चिकित्सकों की ओर से दी गई है। 

यह भी पढ़ें: हरिद्वार के भगवानपुर में संदिग्ध बुखार से दो और की मौत, 30 पहुंचा आंकड़ा

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप