जागरण संवाददाता, रुड़की : कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है। इस बार गांव भी चपेट में आ रहे हैं। ढंडेरा एवं गाधारोणा में कोरोना संक्रमण के 61 मामले सामने आए है। जबकि ठसका गांव में 31 व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिले है। ऐसे में प्रशासन की चिता बढ़ गई है। जिला पंचायतराज अधिकारी (डीपीआरओ) ने पंचायतों में युद्ध स्तर पर इससे निपटने के लिए तैयारी करने के निर्देश दिए हैं। पंचायतघर एवं स्कूलों को आइसोलेशन सेंटर में बदल दिया गया है।

कोरोना संक्रमण की पहली लहर का असर शहरों में अधिक रहा था। गिने-चुने गांव को छोड़ दे तो अधिकांश गांव में कोरोना संक्रमण का एक भी मामला नहीं था। लेकिन, दूसरी लहर से गांव में भी तेजी से संक्रमण फैल रहा है। लिब्बरहेड़ी गांव में ऑफ द रिकार्ड ग्रामीण 35 मौत की बात कह रहे हैं। यहां पर संक्रमित भी काफी संख्या में है। ढंडेरा, गाधारोणा व ठसका गांव में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए है। इसके अलावा कई अन्य गांव में भी कोरोना संक्रमित मिले है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से भी अब गांव में टेस्टिग आदि बढ़ाई जा रही है।

डीपीआरओ आरसी त्रिपाठी ने बताया कि पंचायती राज विभाग का पहला काम गांव में जागरूकता पैदा करना है। लोग शारीरिक दूरी का पालन करें, मास्क जरूर लगाए। इसके अलावा सैनिटाजिग का कार्य किया जाना है। सभी ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वह सैपलिग आदि के लिए ग्रामीणों को अधिक से अधिक जागरूक करें। सभी को मिलकर इस कोरोना महामारी को हराना है।