रुड़की: पूर्व सैनिकों ने नई शिक्षा नीति की सराहना करते हुए इसे रोजगारपरक बताया।

रविवार को मोहनपुरा में हुई भाजपा सैनिक प्रकोष्ठ की बैठक में पूर्व सैनिकों ने यह बात कही। जिला संयोजक धर्मवीर शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार ने 34 साल बाद देश की शिक्षा नीति में बदलाव किया है। यह बदलाव बेहद जरूरी था। मौजूदा शिक्षा प्रणाली से जहां युवाओं में हताशा एवं निराशा का माहौल बन रहा था, वहीं नई शिक्षा नीति एक नए भारत का निर्माण करेगी। देश को फिर से विश्व गुरु बनाने की दिशा में आगे ले जाने का काम करेगी। साथ ही नई शिक्षा नीति से देश के अंदर रोजगार के साधन भी बढ़ेंगे। नई शिक्षा नीति से अंग्रेजी का प्रभाव कम होगा। साथ ही मातृ भाषा को बढ़ावा मिलेगा। इस मौके पर शिक्षाविद् डॉ. अनिल शर्मा, ठाकुर चंदन सिंह, ब्रिजेश त्यागी, सतीश नेगी, प्रदीप त्यागी, अनुज शर्मा, सुरेन्द्र सिंह रावत आदि मौजूद रहे। (जासं)

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस