जागरण संवाददाता, हरिद्वार: शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने बीते साल नगर निगम चुनाव की अधिसूचना जारी होने के ठीक पहले नगर निगम को करोड़ों की लागत से नये भवन की सौगात देने के लिए तत्कालीन महापौर मनोज गर्ग के साथ भूमि पूजन किया था। इससे आस जगी कि नये भवन बनने से 60 पार्षदों के एक साथ बैठने को लेकर कोई समस्या नहीं रहेगी, लेकिन निगम चुनाव में भाजपा प्रत्याशी की हार बाद मंत्री नये भवन का वादा भूल गए। अब इसके निर्माण को लेकर संशय बना है।

मुख्यमंत्री की घोषणा पर लोकसभा चुनाव पूर्व नगर निगम के नये भवन का शहरी विकास मंत्री ने शिलान्यास किया था। हैरत यह कि शिलान्यास के दस माह हो गए लेकिन अब तक इसमें एक ईंट तक नहीं लगी है। करीब 13 करोड़ की लागत से बनने वाले इस पांच मंजिले भवन के पहले और दूसरे चरण को पांच-पांच करोड़ जबकि तीसरे चरण को तीन करोड़ मिलने थे लेकिन अब तक एक पाई भी नहीं मिली है। धनराशि राज्य सरकार के अलावा बोर्ड फंड और चौदहवें वित्त से मिलने की बात कही गई थी। बताते चलें कि नगर निगम का भवन अंग्रेजों के जमाने का है। बरसात में छतें टपकने से अधिकारी और कर्मचारियों को समस्याओं से दो चार होना पड़ता है। दस्तावेजों को भी नुकसान पहुंचता है। मीटिग हॉल में 300 लोगों के बैठने की होगी व्यवस्था

हरिद्वार: पांच मंजिले भवन के भूतल पर पार्किंग में एक साथ 60 वाहन पार्क किये जा सकेंगे। प्रथम, द्वितीय और तृतीय तल पर नगर निगम कार्यालय होंगे। चौथे तल पर मीटिग हॉल होगा जहां 300 लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी। साथ ही खानपान के लिये पैंट्री की भी व्यवस्था होगी। अत्याधुनिक भवन में दो लिफ्ट भी प्रस्तावित है। बोर्ड बैठक में आती है दिक्कत

हरिद्वार: नये परिसीमन बाद नगर निगम में वार्डों की संख्या 30 से बढ़कर 60 हो गई है। ऐसे में निगम सभागार बोर्ड बैठक आदि के लिए छोटा पड़ रहा है। अब तक एक दफा हुई नगर निगम बोर्ड बैठक के लिए निगम के टाउन हॉल का उपयोग किया जा रहा है।

बोर्ड फंड और 14 वें वित्त से मिलने हैं पैसे

हरिद्वार: पांच मंजिला नये भवन को राज्य सरकार के अलावा बोर्ड फंड और चौदहवें वित्त से पैसे मिलने हैं। प्हले और दूसरे चरण में पांच-पांच करोड़ जबकि तीसरे चरण में तीन करोड़ रुपये मिले हैं। हालांकि अब तक एक पाई नहीं मिली है। नगर निगम के नये भवन के शिलान्यास की जानकारी है। भवन निर्माण से संबंधित डीपीआर भेजी गई थी। फिलहाल इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है।

उत्तम सिंह नेगी, सहायक नगर आयुक्त, नगर निगम हरिद्वार

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप