जागरण संवाददाता, हरिद्वार। Haridwar Kumbh Mela 2021 कुंभ की समय सीमा तय होने पर मेला अधिष्ठान एक्शन मोड में आ गया है। कुंभ मेलाधिकारी दीपक रावत ने बुधवार को अधिकारियों के साथ कुंभ कार्यों को लेकर बैठक की और प्रगति की समीक्षा की।  बैठक में अधिकारियों ने बताया कि आस्था पथ 22 फरवरी तक पूर्ण हो जाएगा। कांवड़ पट्टी का कार्य 97 फीसद हो चुका है, पुहाना-इकबालपुर रोड व पिरान कलियर की सड़कों में अब केवल मार्किंग का कार्य ही शेष बचा है।

गणेशपुर ब्रिज का 90 फीसद, हिल बाइपास 80 फीसद, भीमगौड़ा में 100 फीसद, बंगाली मोड़-झंडा चौक 80 फीसद, ओल्ड रोड गौरीशंकर 100 फीसद, घाट व ब्रिजों की पेंटिंग 100 फीसद, बीएचईएल-रानीपुर मार्ग 95 फीसद, तपोवन रोड 93 फीसद काम पूरा हो चुका है। धनौरा-सिडकुल मार्ग 10 मार्च तक पूरा हो जाएगा। जबकि ओल्ड ज्वालापुर में सड़क का कार्य शुरू हो चुका है। पेशवाई रोड 14 में से छह किलोमीटर पूरी हो चुकी हैं। 

मेलाधिकारी ने डामकोठी के सौंदर्यीकरण के कार्य की प्रगति के बारे सेक्टर मजिस्ट्रेट को निर्देशित किया कि वह प्रगति का प्रतिदिन निरीक्षण कर उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। मेलाधिकारी ने बिजली, टिन वर्क, अस्थाई रेन बसेरा, वाच टावर से संबंधित कार्यों की विस्तृत जानकारी भी अधिकारियों से ली। 

बैठक में मेलाधिकारी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डा. अर्जुन सिंह सेंगर, अपर मेलाधिकारी रामजी शरण शर्मा, नगर आयुक्त जयभारत सिंह, उप मेलाधिकारी दयानंद सरस्वती, वित्त नियंत्रक विरेन्द्र कुमार, विशेष कार्याधिकारी महेश शर्मा, लोक निर्माण, जल निगम, सिंचाई, जल संस्थान, विद्युत सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

मार्च के आखिर तक होंगे अस्थायी कार्य

कुंभ मेले में अस्थायी बनने वाले पुल, शौचालय आदि व्यवस्थाएं ठेके पर कराई जाती हैं, इसलिए यह कार्य मार्च के दूसरे व तीसरे सप्ताह में शुरू कराते हुए एक अप्रैल से पहले पूरे कर लिए जाएंगे। कुंभ मेले के नोटिफिकेशन को लेकर अभी तक संशय की स्थिति बनी हुई थी। सरकारी विभागों से जुड़े कई अहम कार्य नोटिफिकेशन के इंतजार में हैं। मंगलवार को सरकार ने साफ कर दिया कि कुंभ अवधि एक अप्रैल से 30 अप्रैल तक होगी। इससे मेला अधिष्ठान व अन्य सरकारी विभाग अपने-अपने कार्य पूरे कराने को लेकर सक्रिय हो गए हैं। अधिकांश स्थायी कार्य पूरे हो चुके हैं। जो कार्य निर्माणाधीन हैं, उन्हें इसी माह पूरा करने के निर्देश कुंभ मेलाधिकारी ने दिए हैं।

कुंभ मेलाधिकारी दीपक रावत ने बताया कि कुंभ के स्थायी प्रवृत्ति के कार्य लगभग पूरे कराए जा चुके हैं। जो कार्य रह गए हैं, उन्हें इसी माह पूरा करा लिया जाएगा। अस्थायी कार्यों में कुछ पुल, पथ प्रकाश, शौचालय आदि कार्य एक अप्रैल से पहले पूरा कराए जाएंगे। यदि अस्थायी कार्य पहले कराए जाते हैं तो खर्च ज्यादा आएगा। इसलिए अस्थायी कार्य एक अप्रैल से पहले पूरे कराए जाएंगे।

एसओपी का पालन कराना प्राथमिकता

कुंभ मेलाधिकारी दीपक रावत ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से जारी एसओपी का पालन कराना उनकी प्राथमिकता है। मेला अवधि में श्रद्धालुओं के आवागमन, ठहरने आदि और स्नान पर्व की सभी व्यवस्थाएं एसओपी के अनुसार ही क्रियान्वित कराई जाएंगी। बताया कि सभी विभागों को इस बारे में स्पष्ट निर्देश दे दिए गए हैं।

भल्ला कॉलेज में बनेगी मुख्य पुलिस लाइन

कुंभ अवधि को लेकर स्थिति स्पष्ट होने से मेला पुलिस भी अपनी बची तैयारियां पूरी करने में जुट गई है। कुंभ की मुख्य पुलिस लाइन भल्ला कॉलेज स्टेडियम में बनाई जाएगी। शहर के मध्य में स्थित होने के चलते यहां से मेला ड्यूटी लगाने में आसानी होगी। आइजी कुंभ संजय गुंज्याल गुरुवार को मुख्य पुलिस लाइन का भूमि पूजन करेंगे।

यह भी पढ़ें-Haridwar Kumbh 2021: घटाई गई मेला अवधि, अब सिर्फ एक महीने का होगा कुंभ; जानें- कब होगा शुरू

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021