संवाद सहयोगी, हरिद्वार: कोरोनाकाल में एआरटीओ दफ्तर पर अधिक भीड़ जमा ना हो इसके लिए फिलहाल एक फरवरी से पहले खत्म हुए लाइसेंसों का ही नवीनीकरण किया जाएगा। इसके बाद खत्म हुए लाइसेंसों की वैधता 30 सितंबर तक बढ़ी हुई है।

पिछले दिनों रोशनाबाद स्थित एआरटीओ दफ्तर में पंजीकरण खत्म हो चुके लाइसेंसों का नवीनीकरण करने का काम शुरू कर दिया गया था। शारीरिक दूरी के नियमों का पालन हो इसके लिए एक दिन में 36 लोगों को ही बुलाया जा रहा था। लेकिन मंगलवार को करीब दो सौ लोग दफ्तर पहुंच गए। इनमें से कुछ ऐसे भी थे जिन्होंने मास्क तक नहीं पहना था। जिस पर एआरटीओ प्रशासन ने उनसे पूछताछ करनी चाही तो वह उनकी ही वीडियो बनाने लगे। बाद में उन्हें कार्यालय परिसर से बाहर किया गया। एआरटीओ मनीष तिवारी ने बताया कि अब उनको ही प्राथमिकता के आधार पर ही लाइसेंस नवीनीकरण का टोकन दिया जाएगा, जिनके लाइसेंसों की समयावधि एक फरवरी से पहले समाप्त हो चुकी है। इसी तरह वाहनों के दस्तावेज आदि कार्य में भी यह स्थिति निर्धारित की गई है। इस दौरान उन्होंने अनावश्यक भीड़ ना जुटाने का भी लोगों से आग्रह किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस