जागरण संवाददाता, रुड़की: करवाचौथ को लेकर शिक्षानगरी में सुहागिनों के समान बाजारों में उत्साह देखने को मिला। एक ओर जहां करवाचौथ के लिए महिलाएं हाथों पर पिया के नाम की मेहंदी रचाती दिखीं। वहीं सुंदर सजे प्रतिष्ठान से कपड़े, श्रृंगार, पूजन आदि सामानों की भी जमकर खरीदारी की। बाजार में भीड़-भाड़ बढ़ने की वजह से दिनभर रुक-रुककर जाम भी लगता रहा।

पति की लंबी आयु के लिए रखे जाने वाले करवाचौथ के व्रत का सुहागिनों को सालभर इंतजार रहता है। सुयोग्य वर की प्राप्ति के लिए कई कुंवारी कन्याएं भी करवाचौथ का व्रत रखती हैं। करवाचौथ पर सुहागिनें दुल्हन की तरह हाथों पर मेहंदी रचाती हैं, आकर्षक परिधान पहनती हैं और सोलह श्रृंगार करती हैं। इस साल गुरुवार को करवाचौथ का व्रत किया जाएगा। ऐसे में शिक्षानगरी और आसपास के क्षेत्रों में सुहागिनों में करवाचौथ के व्रत को लेकर गजब का उत्साह देखने को मिल रहा है। पिछले कई दिनों से महिलाएं व्रत से जुड़ी तैयारियों में जुटी हुई हैं। मंगलवार को भी शहर के मेन बाजार, बीटी गंज और सिविल लाइंस बाजार में काफी चहल-पहल देखने को मिली। खरीदारी के लिए बाजारों में महिलाओं की भीड़ उमड़ी। महिलाओं की सबसे अधिक भीड़ करवे की एवं श्रृंगार के सामान की दुकान में देखने को मिली। इसके अलावा कपड़े, मेहंदी आदि की दुकानों में भी महिलाओं की भीड़ रही। महिलाओं ने डिजाइनर साड़ी, सूट और लहंगा खरीदा। बुधवार को मेंहदी की दुकानों में भीड़ उमड़ने के कारण काफी संख्या में महिलाओं ने एक दिन पूर्व मंगलवार को ही हाथों में मेहंदी रचाई। बीटी गंज में करवा लेने पहुंची उर्मिला सिंह एवं पूनम शर्मा ने बताया कि हर साल उन्हें बेसब्री से करवाचौथ के व्रत का इंतजार रहता है। पति की दीर्घायु के लिए रखे जाने वाले इस व्रत को वे पूरी श्रद्धा के साथ रखती हैं। इसी प्रकार से हाथों में मेहंदी रचाती दिव्या एवं प्रिया ने बताया कि यह उनका पहला करवाचौथ का व्रत है। इसलिए वह दुल्हन की तरह की सजने वाली हैं। करवाचौथ के लिए उन्होंने जमकर खरीदारी भी की है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप