संवाद सहयोगी, हरिद्वार। Kanwar Yatra 2021 नारसन बार्डर से हरिद्वार की सीमा में जबरन घुस रहे दस कांवड़ यात्रियों पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने इनके दो वाहन भी सीज किए हैं। इसके बाद कांवड़ यात्रियों को क्वारंटाइन किया गया। बतादें कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार ने कांवड़ यात्रा पर रोक लगाई है। इसके चलते हरिद्वार जिले की सभी सीमाओं पर बाहर से आने वाले कांवड़ यात्रियों को रोका जा रहा है।

नारसन बार्डर से शुक्रवार देर शाम कांवड़ यात्रियों की पिकअप और एक बाइक घुसने का प्रयास करने लगी। पुलिस ने उन्हें बताया कि कांवड़ यात्रा पर रोक लगी है। ऐसे में किसी कांवड़ यात्री को बार्डर पार नहीं करने दिया जाएगा। बावजूद इसके ये लोग जबरन सीमा में दाखिल होने लगे। जिस पर पुलिस ने दोनों वाहनों पर सवार 10 कावंड़ यात्रियों को गिरफ्तार कर लिया। मंगलौर कोतवाली पुलिस ने इन सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक यशपाल सिंह बिष्ट ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में राजस्थान के झुंझुनू जिले के निवासी संजीव, राजेश, कृष्ण कुमार, अनिल, सुरेंद्र व सचिन हरियाणा के रोहतक निवासी सुरेंद्र, अमित, पानीपत निवासी कुलदीप व अरुण के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

पुलिस ने सीमा से लौटाए 740 वाहन

पुलिस ने हरिद्वार जिले की सभी सीमाओं से करीब 740 वाहन वापस लौटाए। इन वाहनों में साढ़े तीन हजार से अधिक यात्री सवार थे। कुछ जगहों पर उनकी पुलिस से मामूली नोकझोंक भी हुई। वहीं, पुलिस उन्हें समझा-बुझाकर गंगाजल देकर बार्डर से वापस भेजा। शनिवार को भगवानपुर बार्डर के तेज्जूपुर, मंडावर और काली नदी चेकपोस्ट से 142 वाहन भेजे। वहीं झबरेड़ा की गोकुलपुरा, बीरपुर चेकपोस्ट से 90 वाहन वापस भेजे गये। नारसन बार्डर से पुलिस ने 516 वाहन वापस भेजे। इन तीनों बार्डर से वापस भेजे गये 740 वाहनों में साढ़े तीन हजार से अधिक यात्री थे।

 

Edited By: Raksha Panthri