संवाद सूत्र, कलियर: प्रशासनिक मशीनरी के लोकसभा चुनाव में व्यस्त होते ही खनन माफिया की मौज आ गई है। एक सप्ताह से बुग्गावाला क्षेत्र में बड़े पैमाने पर खनन किया जा रहा है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। ग्रामीणों की शिकायत पर रविवार को उप जिलाधिकारी जांच-पड़ताल के लिए बंजारेवाला में पहुंचे लेकिन एसडीएम के आने की खबर खनन माफिया को पहले ही लग गई और वह मौके से भागने में कामयाब रहे।

बुग्गावाला क्षेत्र में बड़े पैमाने पर हो रहा अवैध खनन किसी से छिपा नहीं है। चुनाव आचार संहिता लागू होने से पहले डीएम और एसएसपी ने छापा मारकर छह स्टोन क्रशर को सील कर दिया था। 10 मार्च से आचार संहिता लागू हो गई। आचार संहिता के लागू होने के साथ ही प्रशासनिक मशीनरी चुनाव में व्यस्त हैं। अधिकारी क्षेत्र में नहीं जा पा रहे हैं, जिसकी वजह ये खनन माफिया की मौज आ चुकी है। बंजारेवाला गांव के पास चिल्लावाली नदी में रात दिन खनन का काम चल रहा है। ग्रामीण 100 नंबर पर फोन कर शिकायत कर रहे हैं लेकिन पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। नदी और उससे सटे खेतों में खनन माफिया ने गहरे गड्ढे बना दिए हैं। ग्रामीण गोपाल सिंह, श्रवण कुमार, पूर्व उप प्रधान जगराम सिंह, वाजिद आदि का कहना है कि बड़े पैमाने पर खनन हो रहा है। शिकायत करने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। इस पर उप जिलाधिकारी संतोष कुमार पांडे ने प्रशासनिक अधिकारियों की टीम को साथ लेकर चिल्लावाली नदी पर छापा मारा। हालांकि उससे पहले ही खनन माफिया मौके से भाग निकले। प्रशासनिक टीम ने पाया कि कई स्थानों पर खनन किया गया है। इस संबंध में उप जिलाधिकारी संतोष कुमार पांडे ने बताया कि इस संबंध में रिपोर्ट तैयार कर उच्च अधिकारियों को भेजी जा रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप