संवाद सूत्र, लक्सर। Makar Sankranti 2021 मकर संक्रांति स्नान पर्व पर बार्डर पर कड़ी चौकसी रही। गंगा स्नान को हरिद्वार जा रहे 600 श्रद्धालुओं की कोरोना जांच की गई। कोरोना जांच और थर्मल स्कैनिंग के बाद ही श्रद्धालुओं को बॉर्डर से हरिद्वार जाने दिया गया। मकर संक्रांति पर्व पर हरिद्वार आने वाले दूसरे राज्य के श्रद्धालुओं को कोरोना जांच करने के बाद ही आगे जाने देने के लिए शासन-प्रशासन की ओर से निर्देश जारी किए गए थे। प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से इसके लिए पहले से तैयारी की गई थी। इसके लिए सुबह से ही स्वास्थ्य विभाग की टीम को बिजनौर व पुरकाजी सीमा पर तैनात किया गया था। लक्सर सीएचसी के चिकित्सा अधीक्षक डा. अनिल वर्मा ने बताया कि लक्सर बालवाली सीमा पर आने वाले श्रद्धालुओं की थर्मल स्कैनिंग करने और संदेह होने पर कोरोना जांच के आदेश दिए गए थे।

बालावाली सीमा पर 700 से अधिक श्रद्धालुओं की थर्मल स्कैनिंग की गई, जबकि 400 श्रद्धालुओं का एंटीजन टेस्ट कराया गया। वहीं खानपुर के चिकित्सा अधीक्षक डा. विनीत कुमार ने बताया कि पुरकाजी बार्डर पर 1000 से अधिक श्रद्धालुओं की थर्मल स्कैनिंग की गई तथा 200 श्रद्धालुओं का एंटीजन कोरोना टेस्ट किया गया। इस दौरान एसडीएम पूरण सिंह राणा ने दोनों बार्डर पर निरीक्षण किया गया। एसडीएम पूरण सिंह राणा ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार दोनों बार्डर पर कोरोना जांच के बाद ही श्रद्धालुओं को हरिद्वार जाने की अनुमति दी गई।

यह भी पढ़ें: Makar Sankranti 2021: मकर संक्रांति पर ट्रैफिक प्लान में फेरबल से श्रद्धालुओं, यात्रियों को मिली राहत

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021