जागरण संवाददाता, हरिद्वार: दिल्ली से दुर्गा प्रतिमा विसर्जित करने हरिद्वार पहुंचे दो किशोरों की गंगा में डूबकर मौत हो गई। गंगा बंदी के कारण घाट पर जल कम था, इसलिए युवक आसपास नहाने लगे। इसी दौरान गंगा के बीच में गड्ढे में डूब रहे एक युवक को बचाने के चक्कर में दोनों किशोर डूबकर लापता हो गए। करीब ढाई घंटे बाद पुलिस के गोताखोरों ने दोनों के शव बरामद किए। बताया जा रहा है कि दोनों किशोर ज्वालापुरी पीवीसी मार्केट दिल्ली में किसी दुकान में काम करते थे।

गंगा की मुख्यधारा में प्रतिमा विसर्जन के बाद नहाने लगे

सीओ सिटी मनोज ठाकुर ने बताया कि ज्वालापुरी पीवीसी मार्केट दिल्ली से श्रद्धालुओं का एक जत्था प्रतिमा विसर्जन के लिए हरिद्वार आया था। गंगा की मुख्यधारा में प्रतिमा विसर्जन के बाद कुछ युवक हरकी पैड़ी के सामने की ओर बड़ी शिवमूर्ति के पीछे नहाने लगे। तभी करन निवासी मोदाहा, जिला हमीरपुर उत्तर प्रदेश हाल निवासी ज्वालापुरी दिल्ली अचानक गंगा में डूबने लगा।

जत्थे में मच गई चीख पुकार

दल में शामिल अरविंद और अभिषेक निवासीगण चित्रकूट धाम, थाना करबी जिला चित्रकूट हाल निवासी ज्वालापुरी पीवीसी मार्केट दिल्ली उसे बचाने लगे। दोनों ने करन को तो डूबने से बचा लिया, लेकिन खुद बाहर नहीं आ सके। दो किशोरों के डूबने से उनके जत्थे में चीख पुकार मच गई। सूचना पर शहर कोतवाल राकेंद्र कठैत मौके पर पहुंचे और जल पुलिस के गोताखोर बुलाकर दोनों की तलाश कराई गई। करीब ढाई घंटे की मशक्कत के बाद अरविंद और अभिषेक के शव बरामद कर लिए गए। सीओ सिटी मनोज ठाकुर ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद दोनों किशोरों के शव उनके स्वजन को सौंप दिए गए हैं।

वीआइपी घाट के किनारे भरे जल में नहा रहे थे किशोर

मरम्मत व अन्य कार्यों के लिए हर साल दशहरा से दीपावली के बीच गंगनहर बंद की जाती है। बुधवार रात ही गंगा से निकलने वाली गंगनहर को छोटी दीपावली की रात तक के लिए बंद कर दिया गया है। हरकी पैड़ी सहित अन्य घाटों पर नाममात्र जल बचा है। लेकिन, आसपास जल भरा है। दिल्ली के युवक हरकी पैड़ी के ठीक सामने वीआइपी घाट के किनारे पर भरे जल में नहा रहे थे।

यह भी पढ़ें:- Rishikesh News : दोस्त के साथ आया था दिल्ली का मार्शल आर्ट खिलाड़ी, नहाते समय गंगा में डूबा

Edited By: Sunil Negi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट