जागरण संवाददाता, हरिद्वार: शहर की सफाई व्यवस्था पटरी से उतरी है, लेकिन सियासत जोरों पर है। भाजपाई जहां महापौर पर जिम्मेदारियों का निर्वहन न करने का आरोप लगा रहे हैं। वहीं कांग्रेसी, भाजपा के पार्षद और नेता पर महापौर को काम नहीं करने देने का आरोप लगा रहे हैं। इन आरोप प्रत्यारोप के बीच महापौर के पति ने तो नगर निगम प्रशासन के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने निगम प्रशासन पर नालों की सफाई न करने का आरोप लगाया। शनिवार को महापौर के पति ने नगर निगम गेट के सामने नाले की तलीझाड़ सफाई कराई।

शहर की सफाई व्यवस्था काफी समय से चरमराई है। जगह-जगह के कूड़े के ढेर और गंदगी से अटी नालियां नगर निगम प्रशासन की कार्यशैली की पोल खोलने के लिए काफी है। परिसीमन बाद निगम वार्डों की संख्या दोगुनी होने के चलते सफाई की स्थिति और भी बदतर हो चली है। बहरहाल लचर सफाई व्यवस्था को ढर्रे पर लाने को शहर की सरकार गंभीर नहीं दिख रही है। नगर निगम हरिद्वार में महापौर कांग्रेस की हैं, लेकिन बोर्ड भाजपा का है। सफाई जैसी मूलभूत चीजों को लेकर भी भाजपा और कांग्रेस इन दिनों आमने-सामने हैं। भाजपाई जहां महापौर पर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन न करने का आरोप लगा रहे हैं। वहीं महापौर के पति और पूर्व सभासद अशोक शर्मा पर फोटोजनिक राजनीति कर शहर की जनता को गुमराह करने का आरोप लगा रहे हैं। भाजपाइयों का आरोप है कि नाकामियों को छिपाने के लिए महापौर के पति स्वयं नालियों की सफाई कर जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं। केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत मिशन और नमामि गंगे पर टिप्पणी कर रहे हैं, जबकि साफ-सफाई की जिम्मेदारी नगर निगम की है होती है न कि केंद्र सरकार की। वहीं कांग्रेसी, भाजपा नेताओं पर महापौर को काम नहीं करने देने का आरोप लगा रहे हैं। शनिवार को भी महापौर के पति अशोक शर्मा ने नगर निगम के सामने नाले की सफाई करा नगर निगम प्रशासन को फिर आईना दिखाने का कार्य किया। भेदभाव की राजनीति हो रही है, जिससे शहर की सफाई व्यवस्था चौपट है। दुर्भाग्य की बात यह कि एसएनए यह कहकर मखौल उड़ा रहे हैं कि वह नहीं जानते हैं कि महापौर कौन हैं। मैं इस संबंध में उनसे जवाब तलब करूंगी। सफाई को लेकर नगर आयुक्त एके पांडे से चर्चा हुई। जल्द सफाई कार्यों के लिए 60 कर्मचारी रखने का आश्वासन दिया है। कुछ लोग उनके पति की ओर से सफाई अभियान चलाने को नौटंकी बता रहे हैं जो गलत है। वह शुरू से ही समाज सेवा करते आ रहे हैं। इसके तहत ही वह नालों की सफाई कराने में जुटे हैं।

अनिता शर्मा, महापौर, नगर निगम, हरिद्वार

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप