जागरण संवाददाता, हरिद्वार। Haridwar Kumbh Mela 2021 हरिद्वार कुंभ के चैत्र पूर्णिमा के आखिरी शाही स्नान पर श्रद्धालु हर की पैड़ी पर मां गंगा में आस्था की डुबकी लगा रहे हैं। गंगा पूजन करने के बाद वह दान कर पुण्य लाभ भी प्राप्त कर रहे हैं। श्रद्धालु गंगा स्नान कर घाट पर स्थित मंदिरों में पूजा अर्चना कर पुण्य की कामना मां गंगा और अपने आराध्य देवी देवताओं से कर रहे हैं। साथ ही भगवान से कोरोना महामारी के खात्मे की भी प्रार्थना कर रहे हैं। जिससे लोगों का जीवन सुरक्षित, स्वस्थ और सुखमय बन सके। 

कोरोना संक्रमण के चलते हरकी पैड़ी सहित  सभी गंगा घाटों पर अपेक्षाकृत भीड़ काफी कम है। हर की पैड़ी ब्रह्मकुंड पर सुबह नौ बजे तक आम श्रद्धालु स्नान करेंगे। इसके बाद इसे अखाड़ों के संत महात्माओं के निमित्त स्नान के लिए आरक्षित कर दिया जाएगा। शाही स्नान सबसे पहले निरंजनी अखाड़ा करेगा। उसके बाद अन्य संन्यासी अखाड़े करेंगे। संन्यासी अखाड़ों ने शाही स्नान के लिए अधिकतम 100 संत महात्माओं के ही जाने की घोषणा की है। कोविड संक्रमण के चलते संन्यासी अखाड़ों ने अंतिम शाही स्नान पूर्णिमा को सीमित संख्या में स्नान करने की घोषणा की थी।

यह भी पढ़ें-बैरागी अणियों ने की अखाड़ा परिषद से अलग होने की घोषणा, भारतीय वैष्ण अखाड़ा परिषद का किया गठन 

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021