जागरण संवाददाता, हरिद्वार। हरिद्वार जिले के ज्वालापुर में सड़क पर रेत-बजरी डालने को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। देखते ही देखते एक पक्ष ने लाठी-डंडों से दूसरे पक्ष पर हमला कर दिया। इसमें तीन लोग घायल हो गए। इनमें दो घायलों को गंभीर हालत में एम्स रेफर करना पड़ा। फिलहाल, पुलिस ने पांच आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है।

पुलिस के मुताबिक, ज्वालापुर के मोहल्ला घोसियान निवासी नईम ने शिकायत देकर बताया कि पड़ोसी मेहरबान, सोनू, शादाब, आरिफ उसके परिवार से रंजिश खते हैं। नईम का आरोप है कि तीन अक्टूबर को मेहरबान ने अपने घर के बाहर में रेत डलवाया था। जिससे उसके घर पर आने-जाने का रास्ता बंद हो गया। नईम के भाई अब्दुल सलाम ने दो बार रेत हटाकर रास्ता देने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने रेत नहीं हटाया।

नईम का आरोप है कि मंगलवार को उसका भाई अब्दुल सलाम घर से निकला तो पहले से ही घात लगाए बैठे मेहरबान, सोनू, शादाब, आरिफ और सत्तार ने उस पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया। मारपीट की आवाज सुनकर नईम का दूसरा भाई अब्दुल रहीम, भतीजा अब्दुल शमी भी वहां पहुंच गए। 

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: हरमीत सिंह को फांसी की सजा, परिवार के पांच सदस्यों की बड़ी ही बेरहमी से की थी हत्या

उन पर भी आरोपितों ने हमला कर दिया। इतना ही नहीं महिलाओं के साथ भी मारपीट कर उनके कपड़े फाड़ दिए गए। आरोप है कि मारपीट में अब्दुल सलाम का हाथ टूट गया है। अब्दुल शमी भी लहुलुहान हो गया। डाक्टरों ने दोनों को एम्स रेफर कर दिया। ज्वालापुर कोतवाल चंद्र चंद्राकर नैथानी ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

यह भी पढें- पांच सदस्यों को मौत के घाट उतारने वाले हरमीत परिवार इतना खफा कि उसे देखना चाहता है फांसी पर लटका

Edited By: Raksha Panthri