जागरण संवाददाता, हरिद्वार : Haridwar Crime : ज्वालापुर क्षेत्र में चोरों ने एक आढ़ती के घर से लाखों के जेवरात और नकदी पर हाथ साफ कर दिया। यहां तक कि बच्चों की गुल्लक भी तोड़कर साथ ले गए। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगालने के बाद चोरों की तलाश शुरू कर दी है।

सराय क्षेत्र की गायत्री विहार कालोनी में सब्जी मंडी के आढ़ती गफ्फार मंसूरी का घर है। रविवार को वह परिवार के साथ रिश्तेदार के घर गए थे। सोमवार सुबह जब वापस लौटे तब घर के मेन गेट का ताला टूटा मिला। अंदर पहुंचने पर अन्य दरवाजों के ताले टूटे मिले। घर के अंदर पहुंचने पर देखा कि घर का सारा सामान अस्त-व्यस्त पड़ा था।

Haridwar : शादी में लेनदेन को लेकर नाखुश पति ने पार की हैवानियत की हद, अश्लील वीडियो वायरल करने की दी धमकी

पीड़ित परिवार ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने घटनास्थल का मौका मुआयना किया। पीड़ित परिवार ने पुलिस को जानकारी दी कि अलमारी में रखे सोने-चांदी के जेवरात व एक लाख की रकम गायब है। एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार ने बताया कि घर के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चेक कर रहे हैं। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश कर लिया जाएगा।

इनामी को पुलिस से छुड़ाने वाले 15 ग्रामीणों पर मुकदमा दर्ज

सामूहिक दुष्कर्म के इनामी आरोपित को हरिद्वार पुलिस से छुड़ाने के मामले में पुलिस ने दो महिलाओं सहित तीन नामजद और 15 अज्ञात आरोपितों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने का मुकदमा दर्ज किया है। वहीं, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने पुलिस अधिकारियों के साथ घटनास्थल का मुआयना किया और आरोपितों की गिरफ्तारी के निर्देश दिए।

बीते चार माह पहले डैंसो चौक से एक महिला को हजारा ग्रंट निवासी वाजिद, पीरु और अब्दुल मजदूरी के बहाने बाग में ले गए थे। वहां तीनों ने मिलकर महिला से सामूहिक दुष्कर्म किया था। महिला ने सिडकुल थाने में तीनों आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद पुलिस ने तीनों की धरपकड़ के लिए कई बार दबिश दी। लेकिन, वह हत्थे नहीं चढ़ पाए थे। तीनों की गिरफ्तारी पर 10-10 हजार का ईनाम घोषित किया गया था।

रविवार रात पुलिस ने हजारा ग्रंट में एक आरोपित वाजिद को पकड़ लिया था। तभी उसके भाई आबिद और उसकी पत्नी हुस्नी, वाजिद की पत्नी मुमताज सहित 10-15 ग्रामीणों ने पुलिस को घेर लिया और धक्का-मुक्की करते हुए वाजिद को छुड़ाकर भगा दिया था। पुलिस ने इन सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह सोमवार को एसपी क्राइम रेखा यादव, एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह व सीओ सदर बहादुर सिंह चौहान को साथ लेकर गांव पहुंचे और घटनास्थल पर पहुंचकर आरोपितों की जल्द गिरफ्तारी के निर्देश अधीनस्थों को दिए। एसएसपी ने बताया कि ईनामी व अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम बनाई गई है। जल्दी उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Nirmala Bohra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट