हरिद्वार,  जागरण संवाददाता। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने सैफ अली खान अभिनीत रामायण पर आधारित फिल्म 'आदिपुरुष' का विरोध करते हुए फिल्म पर रोक की मांग की है। परिषद और उससे जुड़े साधु-संतों ने फिल्म का पोस्टर जारी होने पर फिल्म में रावण और दूसरे पात्रों के चित्रण पर आपत्ति जताई है। 

अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्र पुरी ने कहा कि यदि सरकार और प्रशासन ने समय रहते इस पर प्रभावी रोक नहीं लगाई तो अखाड़ा परिषद सनातनी युवाओं की टोली तैयार करेगा जो इस तरह की फिल्म बनाने की सोच रखने वाले सनातन धर्म विरोधियों पर प्रभावी कार्रवाई करेगी।

कड़ी कार्रवाई की मांग

मंगलवार को हरिद्वार में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (निरंजनी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व निरंजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविंद्र पुरी, राष्ट्रीय महामंत्री जूना अखाड़ा के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक श्रीमहंत हरिगिरि और जूना अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय सभापति महंत प्रेमगिरि ने फिल्म का विरोध करते हुए आरोप लगाया कि सनातन विरोधी एक वर्ग धार्मिक मान्यताओं को बदलने और उसका उपहास करने में संलिप्त है, उन्होंने ऐसी सोच रखने वालों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है। 

फिल्म के बहिष्कार की घोषणा

यह लोग अन्य किसी धर्म और उसकी मान्यताओं को लेकर यह दुस्साहस नहीं करते, क्योंकि सनातनी कट्टर और हिंसक नहीं है। कहा कि यह सनातनियों की आस्था के साथ खिलवाड़ है। इसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने चेतावनी दी कि ‘आदिपुरुष’ और इस जैसी फिल्मों को लेकर निर्माताओं की प्रवृत्ति नहीं बदली तो फिल्म के बहिष्कार की घोषणा करने के साथ विधिक कार्रवाई भी की जाएगी। 

चलाया जाएगा जनजागरण अभियान

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत रविंद्र पुरी ने कहा कि इस उकसाने वाले प्रयास का हम विरोध करते हैं। ऐसी फिल्म और फिल्म निर्माताओं का बहिष्कार किया जाना चाहिए। उन्होंने घोषणा की कि जल्द ही साधु-संत बड़ी संख्या में मध्यप्रदेश जाएंगे और इस फिल्म का विरोध करेंगे। पूरे देश में इस तरह की फिल्म, उसके निर्माताओं, अभिनेताओं के विरोध और सामाजिक बहिष्कार के लिए जनजागरण अभियान चलाया जाएगा।

Edited By: Anoop kumar singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट