जागरण संवाददाता, हरिद्वार: औली में शाही शादी को लेकर एनजीटी और हाईकोर्ट के निशाने पर रहे सहारनपुर के चर्चित गुप्ता बंधुओं के काफिले को लेकर कुंभ में रार हो गई। गुप्ता बंधु कई गाड़ियों सहित नो एंट्री जोन में प्रवेश कर गए और पुलिसकर्मियों के रोकने पर उनसे भिड़ गए। इसकी वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने के बाद डीआइजी गढ़वाल नीरू गर्ग ने पूरे मामले पर जांच बैठा दी है।

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा के करीबी रहे सहारनपुर के अजय गुप्ता और अतुल गुप्ता ने कुछ साल पहले उत्तराखंड के औली में शाही शादी को लेकर भी सुर्खियां बटोरी। बहरहाल, कुंभ के शाही स्नान के दौरान गुप्ता बंधु अपनी निजी गाड़ियों का काफिला लेकर हरिद्वार पहुंच गए। गुप्ता बंधुओं की गाड़ियां हरकी पैड़ी पर उस जगह तक जा पहुंची, जहां वाहन ले जाने पर प्रतिबंध लगाया गया था। पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोकना चाहा तो गुप्ता बंधु पुलिसकर्मियों से ही उलझ गए। उन्होंने आला अधिकारियों से अपने संबंधों का रौब गालिब करते हुए जवानों को नाराजगी भी दिखाई। वहीं, आम श्रद्धालुओं के वाहनों पर रोक के बीच गुप्ता बंधुओं का काफिला बाजार तक पहुंचने पर व्यापारियों ने सवाल उठाते हुए विरोध जताया। इंटरनेट मीडिया पर कई अलग-अलग वीडियो वायरल होने पर यह मामला तूल पकड़ गया। जिस पर डीआइजी गढ़वाल नीरू गर्ग ने पूरे मामले पर जांच बैठा दी। उन्होंने हरिद्वार की एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय से सात दिन में रिपोर्ट मांगी है। क्या गाड़ियां अंदर ले जाने की अनुमति थी, यदि नहीं थी तो काफिला अंदर कैसे पहुंच गया। यदि अनुमति दी गई थी तो सवाल यह है कि शाही स्नान के दिन अनुमति किस आधार पर दी गई। इन सारे सवालों के जवाब जांच के बाद सामने आ पाएंगे।