मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

हरिद्वार, जेएनएन। दस दिन पहले लक्सर क्षेत्र से फरार युवक-युवती को पुलिस ने तलाश कर लिया। युवती ने पुलिस को बताया कि वह बालिग है और उसने स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन कर विवाह कर लिया है। पुलिस दानों को अदालत में पेश किया। अदालत ने दोनों को साथ रहने की इजाजत दे दी है। अदालत ने पुलिस को आदेश दिया है कि जरूरत पड़े तो दंपती को सुरक्षा भी मुहैया कराई जाए। 

लक्सर के कोतवाल वीरेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि युवक और युवती एक ही गांव के रहने वाले हैं। युवक हिंदू और युवती मुस्लिम है। दोनों के बीच लंबे समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था और वे विवाह करना चाहते थे, लेकिन अलग-अलग समुदाय से होने के कारण परिजन तैयार नहीं थे। 10 अप्रैल को दोनों घर से भाग गए। युवती के पिता ने युवक के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया। पुलिस दोनों की तलाश कर रही थी। शनिवार की सुबह पुलिस ने युवक-युवती को लक्सर रेलवे स्टेशन के पास पकड़ लिया।

कोतवाली लाकर पूछताछ करने पर युवक-युवती ने बताया कि वे दोनों बालिग हैं तथा एक दूसरे से प्रेम करते हैं। युवती ने बताया कि उसने धर्म परिवर्तन कर युवक से एक मंदिर में विवाह कर लिया है। दोनों ने पुलिस को अपने बालिग होने के साथ ही विवाह के प्रमाण भी दिए। कोतवाल नेगी ने बताया कि दोनों को अदालत में पेश किया गया। 

युवती के बयान और प्रस्तुत प्रमाण देखने के बाद अदालत ने दोनों को साथ रहने की इजाजत दे दी। उन्होंने बताया कि युवक-युवती को फिलहाल पुलिस ने ही ठहराया हुआ है। उन्होंने बताया कि दोनों जहां जाना चाहते हैं पुलिस सुरक्षा में उन्हें वहां भेज दिया जाएगा। जरूरत पड़ी तो दोनों को सुरक्षा भी दी जाएगी।

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप